उत्तराखंड में ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत के बाद दोबारा वोटिंग, कुल 427 वोट पड़े, 400 भाजपा को

narendra-modi_1489218609भारतीय जनता पार्टी के पूरन सिंह फारटयाल 15 मार्च को चम्पावत जिले की लौहाघाट सीट से विजेता घोषित कर दिए गए। एक पोलिंग बूथ पर दोबारा से चुनाव कराए जाने पर उन्हें 427 में से 400 वोट मिले। इस बूथ पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत के बाद नतीजे रोक लिए गए थे और फिर दोबारा चुनाव करवाए गए। उस वक्त वह 26,468 वोटों से आगे चल रहे थे। उनके बाद दूसरे नंबर पर कांग्रेस के कौशल सिंह थे, जिन्हें 26,320 वोट मिले थे। इस बूथ पर दोबारा से चुनाव कराए जाने के बाद भाजपा के 57 विधायक हो गए।

हालांकि, प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस अभी भी बना हुआ है। पर्यवेक्षक केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष सरोज पांडे 15 मार्च को भी देहरादून नहीं पहुंचे। बताया जा रहा है कि दोनों 16 मार्च को देहरादून पहुंचेंगे और विधायकों के साथ बैठक करेंगे।




मुख्यमंत्री उम्मीदवार के लिए तीन लोगों के नाम पर चर्चा है, इन तीन नामों में सतपाल महाराज, त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रकाश पंत शामिल हैं। महाराज कांग्रेस सहित कई पार्टियों में रह चुके हैं। साल 2014 में भाजपा के साथ जुड़ने से पहले वे कांग्रेस के नेता थे। रावत पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं, जिन्होंने डोइवाला सीट से चुनाव जीता है। पिथौरागढ़ विधायक पंत कुमाऊं से हैं। जबकि महाराज और रावत दोनों ठाकुर हैं, जबकि पंत ब्राहम्ण हैं। भाजपा नेता यह स्वीकार कर चुके हैं कि मुख्यमंत्री की घोषणा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह करेंगे।




बता दें, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में 70 सीटों में से भाजपा को 57 सीटों पर जीत मिली है। वहीं दूसरे नंबर पर कांग्रेस रही, जिसे 11 सीटों पर जीत मिली। इनके अलावा दो सीटों पर अन्य उम्मीदवारों ने कब्जा किया है। भाजपा को यूपी में प्रचंड बहुमत मिला है। यूपी विधानसभा चूनाव में भाजपा को 312 सीटें मिली हैं। वहीं समाजवादी पार्टी ने 47 सीटें जीती हैं और कांग्रेस ने केवल 7 सीटों पर जीत दर्ज की है। बहुजन समाज पार्टी के हिस्से में केवल 19 सीटें आई हैं।

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
यह भी पढ़ें :   सबसे बड़ा रावण दिल्ली में रहता है : आजम खान
loading...

यह भी पढ़े