गोवा विधानसभा मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने साबित किया बहुमत, 22 मत पक्ष में पड़े

C7BWNrFV4AAkod4गोवा विधानसभा में भाजपा ने बहुमत साबित कर दिया है। मनोहर पर्रिकर को 22 विधायकों का समर्थन मिला है। मनोहर पर्रिकर को आज अपना बहुमत साबित करना था। भाजपा का दावा था कि उन्हें 21 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। 14 मार्च की शाम को मनोहर पर्रिकर के साथ नौ विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी।

रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा देने वाले और चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री बनने के लिए ‘घर वापसी’ करने वाले 61 वर्षीय पर्रिकर को अपने गठबंधन के सहयोगियों गोवा फारवर्ड पार्टी (जीएफपी), महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) और निर्दलियों के समर्थन का भरोसा है। आईआईटी से पढाई करने वाले पर्रिकर की पार्टी के 13 विधायक हैं और उन्होंने जीएफपी, एमजीपी के अलावा दो निर्दलियों के समर्थन से कुल 21 सदस्यों के साथ रविवार को सरकार बनाने का दावा पेश किया था। एक अन्य निर्दलीय विधायक ने कल गठबंधन को समर्थन दिया था जिससे यह संख्या बढकर 22 हो गई।




उच्चतम न्यायालय के निर्देश के अनुसार, गोवा विधानसभा में शक्ति परीक्षण 16 को होना था । मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद पर्रिकर ने भरोसा जताया था कि “उनकी सरकार स्थिर होगी और पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।” उन्होंने कहा “सबको साफ कर दूं कि यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। मैं सहमत हूं कि जनादेश खंडित है। लेकिन अगर खंडित जनादेश का हर खंड एकसाथ आता है तो हम 22 हो जाएंगे। यह एकसाथ आकर चुनाव बाद गठबंधन है और क्षेत्रीय दलों ने बढत बनाई है, मैंने नहीं।”

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
यह भी पढ़ें :   उत्तर प्रदेश चुनाव में सियासी वारिसों की कमी नहीं

यह भी पढ़े

Leave a Comment