पतंजलि आंवला जूस लैब टेस्ट में फेल

baba-ramdevपतंजलि आंवला जूस दवा है फूड नहीं : रामदेव

 


 

योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद आवंला जूस के लैब टेस्ट में फेल हो जाने के बाद बाबा और पतंजलि दोनों ही सुर्खियों में आ गए है। इसके बाद लोग बाबा रामदेव पर टिप्पणी कर रहे है।

इन सब आरोपों को खारिज करते हुए जूस के समर्थन में बाबा रामदेव ने कहा कि “यह औषधीय है और लोगों के लिए बिलकुल सुरक्षित है। बाबा रामदेव ने कहा कि दुकानों पर आने से पहले इसकी कई तरह से जांच की जाती है। बिना जांच के इसे दुकानों पर बेचने के लिए नहीं भेजा जाता।” उन्होंने कहा कि “फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) द्वारा इस जूस की जांच कराना उचित नहीं है।”

पतंजलि द्वारा जारी की गई एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह कोई खाद्य पदार्थ नहीं जिसकी एफएसएसएआई द्वारा जांच कराई जाए। इसके लिए आयुर्वेद, योग एंड नेच्यूरोपैथी, यूनानी, सिद्धा एंड हॉमोपैथी मंत्रालय (आयुष) द्वारा जांच कराई जाती है। इस विज्ञप्ति में साफ लिखा है कि इस जूस की बोतल पर लिखा रहता है कि इसे बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए। डॉक्टर द्वारा परामर्श लेने के बाद इसे दवाई के तौर पर लेना चाहिए। पतंजलि आंवला जूस एक आयुर्वेदिक दवाई है, जिसकी आयुष विभाग द्वारा जांच की जाती है।

आपको बता दें कि योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद द्वारा निर्मित पतंजलि आंवला जूस की सुरक्षा बलों के लिए बिक्री पर कैंटीन स्टोर्स डिपार्टमेंट (CSD) ने रोक लगा दी है। सीएसडी ने इस संबंध में फैसला सरकारी लैब से रिपोर्ट मिलने के बाद लिया था। सीएसडी ने बीते 3 अप्रेल 2017 को सभी डिपो से अपने मौजूदा स्टॉक के लिए एक डेबिट नोट बनाने के निर्देश दिए थे जिससे की पुराने स्टॉक को लौटाया जा सके।

यह भी पढ़ें :   1 अप्रैल से नहीं होगा मेट्रो स्मार्ट कार्ड में रीचार्ज कराई गई राशि का रिफंड

खबर के मुताबिक इस मामले को लेकर दो अधिकारियों ने बताया कि जिस बैच की जांच कोलकाता की सेंट्रल फूड लैबरेटरी में की गई थी, उसमें यह बात सामने आई कि यह प्रॉडक्ट इस्तेमाल के लिए ठीक नहीं है। साथ ही अधिकारियों ने यह भी बताया कि पतंजलि ने सभी आर्मी कैंटीनों से आंवला जूस को वापस ले लिया है।

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
loading...

यह भी पढ़े