नीतीश कुमार के बारे में फूहड़ बातें न करें रघुवंश बाबू : राबड़ी देवी

Former Bihar Chief Minister Rabri Devi during Parivartan Rally at Kochas in Bihar on Nov.27, 2013. (Photo: IANS)

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने पार्टी उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के बीते 14 मार्च को दिए गए बयान से किनारा कर लिया है। रघुवंश ने हाल ही में भारतीय जनता पार्टी की यूपी में हुई जीत को लेकर एक बयान दिया है जिसमें उन्होंने बीजेपी की राज्य में चुनाव जीतने के पीछे नीतीश कुमार को दोषि ठहरा दिया है। रघुवंश ने कहा था कि “गठबंधन (पार्टियों) ने उत्तर प्रदेश में चुनाव नहीं लड़कर भारतीय जनता पार्टी की मदद करने का काम किया है और इसके लिए नीतीश कुमार जिम्मेदार है।” सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए यह भी कहा था कि “वह राजद के एक सिपाही हैं। सेनापति का आदेश मिले तो वह मारकर (जदयू) गरदा झाड़ देंगे।”

सिंह के इस बयान से राजद ने खुद को अलग कर लिया है और उनकी आलोचना करने के साथ-साथ चेतावनी भी दी है। राबड़ी देवी ने कहा कि “रघुवंश प्रसाद सिंह का बयान फ़ूहड़ है और उन्हें ऐसे बयान नहीं देने चाहिए।” वहीं राबड़ी ने जदयू नेताओं से भी इस तरह की बयानबाजी न करने की सलाह दी है। बीजेपी के नीतीश के सॉफ्ट कार्नर वाले बयान पर राबड़ी देवी ने कहा कि “नीतीश कुमार नहीं बल्कि बिहार में बीजेपी पीड़ा में है क्योंकि वो सत्ता में नहीं है।” वहीं राबड़ी देवी ने इस बात पर भी जोर दिया कि “बिहार की गठबंधन सरकार में कोई कलह नहीं है।”




राबड़ी देवी ने कहा कि “महागठबंधन अटूट है।” राबड़ी ने यह भी कहा कि “बीजेपी और उसके कुछ नेता सुशील मोदी और मंगल पांडेय जैसे नेताओं को सत्ता की पीड़ा है।” वहीं राज्य के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने भी रघुवंश को ऐसे बयान देने पर चेतावनी दी है। उन्होंने कहा “रघुवंश बाबू को ऐसी बात करने से परहेज करना चाहिए। अगर आगे भी ऐसी बात सामने आती है तो वह राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद से आग्रह करेंगे कि ऐसे लोगों पर कार्रवाई हो|” वहीं जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार व राजीव रंजन प्रसाद ने इस मामले पर कहा कि “राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को अविलंब रघुवंश सिंह के मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।”

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
यह भी पढ़ें :   अखिलेश ने का तोहफों 17 पिछड़ी जातियों को SC कोटे में शामिल होंगी

यह भी पढ़े