कौन बनाता है भारतीय मुसलामानों को संदिग्ध ?

Indian Muslims offer last Friday pray of the holy month of Ramadan, in Kolkata, India, Friday, Aug. 2, 2013. Muslims throughout the world are marking the month of Ramadan, the holiest month in Islamic calendar during which devotees fast from dawn till dusk. (AP Photo/Bikas Das)Indian Muslims offer last Friday pray of the holy month of Ramadan, in Kolkata, India, Friday, Aug. 2, 2013. Muslims throughout the world are marking the month of Ramadan, the holiest month in Islamic calendar during which devotees fast from dawn till dusk. (AP Photo/Bikas Das)

“जेंटलमैन, ब्लड ईज थिकर दैन वाटर “ ⇒ मोहम्मद अली जिन्ना नेहरु और जिन्ना ने तो अपने स्वार्थ के कारण मुल्क को दो टुकड़ों में बाँट दिया लेकिन भारतीय मुसलामानों को अपनी मिटटी जुदा न कर सके| हिन्दुस्तान में रहने वाले मुसलामानों नें जिन्ना की जज्बाती बातों से बहुत आगे जाकर यह फैसला किया कि हम इसी भारत में रहेंगे जिसे धर्म के नाम पर बांटा जा रहा है क्यूंकि यही हमारा घर है | इस देश की मिटटी को मुसलामानों नें माथे से लगा लिया और आखरी सांस के…




दोस्तों को बताएं :
Read More

आग सब कुछ नहीं जला पाती…

gulbarg

बहरहाल, समय बहुत ताकतवर है| इतना ताकतवर कि एक तरफ यह महरम बनकर पीड़ितों के जख्म भर रहा है, तो दूसरी तरफ गुजरात दंगों के बाद जिस नरेन्द्र मोदी को अमेरिका का वीजा लेना मुश्किल हो गया था, उन्हें आज कैपिटल हिल में अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करने का सुअवसर दे रहा है| 14 साल पुराना नरसंहार, जिसे गुलबर्ग सोसायटी हत्याकांड के नाम से जाना गया, 2002 में गुजरात में हुए दंगों के सर्वाधिक चर्चित मामलों में एक था| इस हत्याकांड में पूर्व सांसद एहसान जाफरी समेत…




दोस्तों को बताएं :
Read More

पर्यावरण की रक्षा के लिए ईमानदार पहल की जरुरत

delhi-odd-even-759

पिछले दिनों दिल्ली सरकार ऑड-ईवन की वजह से खासी सुर्ख़ियों में रही| जहाँ एक ओर सरकार ने इसे प्रदूषण कम करने का कारगर तरिका बताया, वहीँ विपक्ष ने इसे महज़ पब्लिसिटी स्टंट करार दिया| इसमें कोई शक नहीं कि पहले चरण के मुकाबले दुसरे चरण में ऑड-ईवन इतना कारगर साबित नहीं हो पाया| समीक्षा के नाम पर तेज गर्मी या स्कूलों के खुले होने को इसके लिए जिम्मेवार ठहराया गया लेकिन सोचने की बात यह है कि पर्यावरण को बचाने के लिए ऑड-ईवन जैसे किसी शोर्ट-कट की जगह क्या किसी…




दोस्तों को बताएं :
Read More