कुछ सुलझी, कुछ अनसुलझी रह जाती है रिश्तों की कहानी

Rachna Ji Article

प्राय: कोई भी नया संबंध जुड़ने की आरम्भिक अवस्था बहुत रोचक व आकर्षक होता है। धीरे-धीरे यह रोचकता अपने चरम पर पहुँचने के बाद ठिठक जाती है। उसे आगे बढ़ने का स्थान नहीं मिल पाता। शीर्ष के आगे और पीछे, दोनों ओर ढलान होती है। अत: शीर्ष बिंदु पर टिके -टिके रोचकता जब थकान और उकताहट महसूस करने लगती है, वह उदास मन से कदम आगे बढ़ाती है। मानवीय संबंधों के उतार-चढाव को एक अलग नजरिये से देख रहीं हैं रचना त्यागी| हज़ारों की भीड़ में भी हर व्यक्ति अपनी…

Read More

मध्य प्रदेश के लेखकों का प्रतिनिधिमंडल भ्रमण पर

42101536023856399879410000037961016411070241017019-1466586623

मध्य प्रदेश प्रगतिशील लेखक संघ से 11 लेखकों का एक प्रतिनिधिमंडल 14 से 20 फरवरी, 2017 तक महाराष्ट्र में सतारा और कोल्हापुर, गोवा तथा कर्नाटक में धारवाड़ का दौरा करने निकला है। इस यात्रा का उद्देश्य अपने पड़ोसी राज्यों के अन्य भाषाओँ के लेखकों से संपर्क प्रगाढ़ करना तो है ही| साथ ही पिछले कुछ वर्षों में अपने तार्किक-वैज्ञानिक और साहसिक लेखन के लिए शहीद हुए डॉ. नरेन्द्र दाभोलकर, कॉमरेड गोविन्द पानसरे और प्रोफेसर एम. एम. कलबुर्गी की शहादत के प्रति अपना सम्मान और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के संघर्ष के लिए…

Read More

24 लेखक साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित

sahitya-academy_650x400_51455653087

भारतीय भाषाओं के 24 प्रतिष्ठित लेखकों को 22फ़रवरी  को साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया| साहित्य अकादमी पुरस्कार वार्षिक ‘फेस्टीवल ऑफ लेटर्स’ में प्रदान किए गए| विजेताओं को उनकी उल्लेखनीय साहित्यिक कृतियों के लिए एक-एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया| पुरस्कार देते हुए अकादमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने कहा कि “उन्हें इसे ‘पुरस्कार’ कहना पसंद नहीं है| बल्कि वह ‘सम्मान’ कहना पसंद करते हैं| उनके मुताबिक ‘पुरस्कार’ शब्द ‘वित्तीय’’ पक्ष को दिखाता है जो इस तरह के लेखकों के लिए मायने नहीं रखता है|” साहित्य अकादमी…

Read More

‘मानुषी’ है नई दिल्ली पुस्तक मेले की थीम

book-fair-hind-watch

महिलाओं के लेखन की समृद्ध परंपरा का गरिमापूर्ण प्रदर्शन  महिला लेखिकाओं द्वारा और महिला मुद्दों पर लिखी 600 से ज्यादा पुस्तकों का प्रदर्शन “मानुषी” थीम पर विशेष रूप से मेले में आकर्षक थीम पैवेलियन का निर्माण किया गया है बड़ी संख्या में महिला रचनाकार भी पुस्तक मेले में शामिल नेक साहित्यिक एवं अन्य आयोजनों में लेखिकाओं का उद्बोधन लेखिकाओं, कवयित्रियों, महिला कथाकारों, पत्रकारों एवं स्त्री अधिकार कार्यकर्ताओं से मिलने का बेहतरीन मौका नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला-2017 महिलाओं द्वारा और महिला विषयों पर लेखन पर केन्द्रित “मानुषी” थीम पर आयोजित…

Read More

काका साहेब कालेलकर सम्मान अर्पण

kaka-kalelkar-samman-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%87%e0%a4%b2%e0%a4%95%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a8

काका साहेब कालेलकर के दिसंबर में जंमदिन के उपलक्ष्य में कला, संगीत, साहित्य, शिक्षा और पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली 5 हस्तियों को सम्मानित किया गया ।दिसंबर 31 को गांधी हिंदुस्तानी साहित्य सभा के प्रांगण में आयोजित सादे समारोह मैं वरिष्ट कथाकार ममता कालिया द्वारा वरिष्ट साहित्यकार श्री प्रेम पाल शर्मा की अध्यक्षता में सम्मान प्रदान किए गये ।विशिष्ट अतिथि के रूप में डाॅ अमर नाथ अमर और रमेश शर्मा के साथ डॉ सुरेश शर्मा, नंदन शर्मा, अनिता प्रभाकर, अर्चना प्रभाकर, अनुराधा आदि ने सम्मानितों को शुभकामनाएं…

Read More

बुकर प्राइज विजेता जाॅन बर्जर का निधन

2046

बुकर प्राइज विजेता लेखक जाॅन बर्जर का 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया।वह पेरिस में रह रहे थे। जाॅन बर्जर एक दूरदर्शी लेखक और महान उपन्यासकार थे। कला के प्रति उनका दृष्किोण बेहद सूक्ष्म था जो उनके साहित्य में भी देखा जाता था। कला और साहित्य जगत के कई बड़े नामों ने उनके निधन पर दुख प्रकट किया है। उनका जन्म 5 नवम्बर 1926 को हुआ था। वे एक पेंटर, आलोचक और कवि के रूप में जाने जाते थे। उनके उपन्यास ‘जी’ (G.) को 1972 में बुकर सम्मान से…

Read More
loading...