AAP विधायक अलका लांबा ने की इस्तीफे की पेशकश

2दिल्ली एमसीडी चुनावों में करारी हार के बाद आम आदमी पार्टी की नेता अलका लांबा ने इस्तीफे की पेशकश की है। अलका लांबा चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी की विधायक हैं। उन्होंने अपने क्षेत्र में हार की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए यह पेशकश की है। दिल्ली एमसीडी चुनावों में आप आदमी पार्टी को महज 46 वार्डों में बढ़त हासिल हुई है।

बीजेपी ने तीनों कॉरपोरेशन में जीत हासिल करते हुए 180 सीटें जीती हैं। वहीं कांग्रेस को 31 सीटों पर बढ़त मिली है। बता दें कि चुनावों के रुझान आने के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवार के घर एक बैठक हुई थी, जिसमें उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय मौजूद थे। इस बैठक में ईवीएम मुद्दे पर चर्चा की गई थी। इसके बाद गोपाल राय ने हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा था और आरोप लगाते हुए कहा था कि “यह ईवीएम लहर की जीत है।”




दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ने कहा कि कोई वजह नहीं हो सकती कि दिल्ली के लोग बीजेपी को इतना बंपर बहुमत दें।” मनीष सिसोदिया ने कहा कि “बिना ईवीएम रिगिंग के ऐसा बहुमत संभव है ही नहीं।” मनीष सिसोदिया ने कहा कि “बीजेपी की जीत पर यकीन किया नहीं जा सकता है।” उन्होंने कहा कि “दिल्ली में कूडा फैलाने वाली पार्टी, चिकनगुनिया फैलाने पार्टी की जीत पर सवाल उठने लाजिमी है।”

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
यह भी पढ़ें :   भाजपा-संघ ने देश में सिर्फ़ नफ़रत फैलाई, न गांधी दिया और न ही पटेल दे सके : राहुल गांधी

यह भी पढ़े

Leave a Comment