लोकसभा में विपक्ष के नेता बन सकते हैं राहुल गांधी

111-1470569272कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के पार्टी का सिरमौर बनने को लेकर भले ही अभी अनिश्चितात का माहौल हो, मगर लोकसभा में उनका प्रमोशन हो सकता है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को लोक लेखा समिति का चेयरपर्सन बनाए जाने के बाद नेता विपक्ष की कुर्सी खाली हो जाएगी

खड़गे अप्रैल में पीएसी चेयरमैन का पद संभालेंगे। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सिर्फ पंजाब में स्पष्ट बहुमत मिला है, जहां से अमरिंदर सिंह ने 16 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं बाकी चार राज्यों में बीजेपी ने सरकार बनाई है।

यूपी में सपा के साथ गठबंधन के बावजूद करारी हार के चलते कांग्रेस के कई नेताओं ने राहुल के पार्टी की कमान हाथ में लेने की इच्छा जाहिर की है। मगर अब नेता विपक्ष का पद खाली होने के बाद, पार्टी नेता उन्हें कांग्रेस के संसदीय दल का मुखिया बनाना चाहते हैं, ताकि राहुल 2019 लोकसभा चुनाव तक नेता विपक्ष बने रहें।

जनसत्ता की खबर के अनुसार, चर्चा है कि अगर राहुल नेता विपक्ष बनते हैं तो उनके खास सहयोगी, ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस के संसदीय दल का उप-नेता बनाया जा सकता है। यह पद केरल के किसी सांसद को भी दिया जा सकता है। इतिहास में ऐसा पहली बार है जब कांग्रेस ने लोकसभा के नेता विपक्ष को पीएसी का चेयरमैन बनाया है।

कांग्रेस ने 2014 के लोकसभा चुनावों में 44 सीटें जीती थीं। संविधान के अनुसार, लोकसभा में मुख्य विपक्षी पार्टी के कम से कम 55 सांसद या कुल क्षमता (545) का 10 फीसदी होना चाहिए। हालांकि लोकसभा स्पीकर इस स्थिति में अपने विवेक से निर्णय ले सकते/सकती हैं।

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
यह भी पढ़ें :   राहुल गांधी ने राजनीतिक चंदे पर नए नियम का स्वागत किया
ताजा खबरें :
दोस्तों को बताएं :

यह भी पढ़े

Leave a Comment