कभी सोचा नहीं था कि अखिलेश बागी हो जाएगा : मुलायम सिंह की पत्नी

Sadhnaअभी तक बैकग्राउंड में ही रहीं सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना यादव ने अखिलेश यादव से अपने संबंध व अपनी योजनाओं पर बात की। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी(सपा) में मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। अभी अखिरी चरण का मतदान होना बाकी है, लेकिन एक बार फिर यह मामला सिर उठाता नजर आ रहा है। जारी घमासान में इस बार पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना यादव ने अपनी चुप्पी तोड़ी है।

साधना ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा कि “कभी नहीं सोचा था कि अखिलेश नेताजी के जीते जी अलग हो जाएगा। पता नहीं अखिलेश को किसने भड़काया। मैंने कभी सोचा नहीं था कि वो (अखिलेश यादव) बागी हो जाएगा।” उन्होंने कहा कि “मेरे अखिलेश के बीच कोई बात ही नहीं थी। हमारी कभी बहस तक नहीं हुई। अखिलेश ने कभी मुझे जवाब तक नहीं दिया। मैंने कभी उसे पराया नहीं माना। पार्टी में जो कुछ हुआ, वह समय ने कराया।”

उन्होंने कहा कि “इस पूरे घटनाक्रम में उनका बहुत अपमान हुआ है| अब वह पीछे नहीं हटेंगी और अब जो होगा खुलकर होगा।” उन्होंने शिवपाल यादव को पार्टी से दरकिनार किए जाने को गलत बताया। साथ ही बेटे प्रतीक यादव के राजनीति में आने का इशारा भी दिया।

रामगोपाल यादव को लेकर साधना ने कहा कि “प्रोफेसर जी नेताजी से बहुत प्यार करते थे, लेकिन बीच में पता नहीं क्या हो गया, शायद सब कुछ समय ने कराया। प्रोफेसर साहब की पत्नी जब नहीं रही थीं तो मैंने ही उनके आंसू पोंछे थे। मैंने ही उनके बच्चों की शादियां करवाईं। नेताजी भी प्रोफेसर साहब से पूछे बिना काम नहीं करते थे।”

उन्होंने कहा कि “मैं जिस परिवार से आती हूं। वहां मेरे पिता मुझसे कहा करते ‌थे कि किसी को भी अपने अच्छे काम की पब्लिसिटी नहीं करना चाहिए। पर अब हालात बदल गए हैं। मुझे कोई पद नहीं चाहिए। मैं राजनीति में नहीं आऊंगी लेकिन खुलकर समाज सेवा करूंगी।” साधना ने कहा कि “वह चाहती हैं कि फिर से सपा सरकार बनें और अखिलेश मुख्यमंत्री बनें।” उन्होंने कहा कि “वह चाहती हैं कि उनका बेटा प्रतीक भी राजनीति में आए।” खुद के राजनीति में आने पर उन्होंने कहा कि “मैं सामने कभी नहीं आई पर बैकग्राउंड में काम करती रही।”

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
यह भी पढ़ें :   यूपी के 20 बड़े चेहरे, जिनके सामने है बड़ी राजनीतिक चुनौती
ताजा खबरें :
दोस्तों को बताएं :

यह भी पढ़े