मैंने प्रशांत भूषण को मारा होता तो 6 साल में सबूत ढूंढ़ लेती पुलिस : दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता

Modi-and-tajender-pal-singh-bagga_150317-044754दिल्ली भाजपा के नए नियुक्त किए गए प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने अपने पुराने विवादित ट्वीट डिलीट कर दिए हैं। इसके साथ ही बग्गा का कहना है कि “उन्होंने प्रशांत भूषण के साथ मारपीट नहीं की थी।” बता दें, साल 2011 में बग्गा ने प्रशांत भूषण के साथ मारपीट की थी। बग्गा के दिल्ली भाजपा प्रवक्ता बनाए जाने पर प्रशांत भूषण ने लिखा है “इसमें कोई अचंभे वाली बात नहीं है कि भाजपा ने बग्गा जैसे ठग को अपना प्रवक्ता चुना है। अमित शाह और मोदी जहां हर तरफ इन ठगों को बढ़ावा दे रहे हैं, उनसे इससे ज्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती।”

बग्गा ने अक्टूबर 2011 में भूषण पर कथित तौर पर हमला कर दिया था। यह हमला उस वक्त किया था, जब भूषण ने कश्मीर में जनमत संग्रह कराए जाने का बयान दिया था। इस मामले में कोर्ट में अभी ट्रायल चल रहा है। बग्गा उस वक्त भगत सिंह क्रांति सेना का सदस्य था।




डॉक्यूमेंट्री सबूत होने के बावजूद बग्गा भूषण पर हमला करने की बात से इनकार करते हैं। बग्गा का कहना है “इस मुद्दे पर टिप्पणी करना सही नहीं होगा, क्योंकि मामला अभी कोर्ट में है। लेकिन मैं आपको बता सकता हूं कि भूषण पर हमला करने वाला मैं नहीं था और मैं वहां पर मौजूद भी नहीं था। छह साल हो गए और क्या आपको लगता है कि अगर ऐसा होता तो छह साल में पुलिस मेरे खिलाफ सबूत नहीं ढूढ़ सकती।” बग्गा ने कहा कि “ज्यादातर ट्वीट्स मेरे समर्थन में हैं, आप टि्वटर पर जाइए और चेक कीजिए।”

लेखन / प्रस्तुति :

हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया
हिंद वॉच मीडिया जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रही है| समूह अपने साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाती है| भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है|
दोस्तों को बताएं :
यह भी पढ़ें :   अखिलेश यादव गुट ने की सपा के चार जिलाअध्यक्ष बहाल

यह भी पढ़े

Leave a Comment