Print Friendly, PDF & Email

kerala-man-ragging_650x400_81482056713-1

केरल के सरकारी पालीटेक्निक कॉलेज में प्रथम वर्ष के छात्र अवनीश के साथ क्रूरता पूर्वक रैगिंग किए जाने का मामला सामने आया है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी किडनी को नुकसान पहुंचा है। घटना में लिप्त आठ सीनियर छात्रों में से पांच ने आत्‍मसमर्पण कर दिया हैं। कॉलेज प्रशासन ने सभी आठ छात्रों को निलंबित कर है।

पुलिस ने बताया कि छात्र को त्रिसूर के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया है और उसे डायलिसिस पर रखा गया है। डॉक्टरों के अनुसार अवनीश की किडनी में गंभीर चोटें हैं। आरोपी छात्रों ने पीड़ित को कुछ हानिकारक पाउडर मिलाकर शराब पीने के लिए कथित रूप से बाध्य किया। इसके पहले उसकी छह घंटे तक बर्बर तरीके से रैगिंग की गई।

मीडिया रिपोट्स के मुताबिक, केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी ने अस्पताल में पीडि़त अवनीश से मुलाकात की। उन्होंने राज्य सरकार से अवनीश के इलाज का सारा खर्च उठाने की मांग की। इस घटना पर राज्य के मानवाधिकार आयोग ने शिक्षा विभाग से रिपोर्ट मांगी है।

इस बारे में पीड़ित छात्र अवनीश ने बताया कि उसे और आठ अन्य छात्रों को निर्वस्त्र कर दिया गया था और फिर पांच घंटे तक एक कठिन अभ्यास करने के लिए कहा गया था। घटना यह दो दिसंबर के रात की है।

सीनियर छात्रों ने सभी नौ छात्रों को इतना ज्यादा प्रताड़ित किया कि कई लोग वहीं जमीन पर गिर पड़े थे। इसके बाद भी वे हम लोगों को नहीं जाने दे रहे थे। कुछ लोगों को जमीन पर तैरने का अभ्यास करने के लिए कहा गया। कुछ लोगों को तो एक बॉक्स जैसे चैम्बर में बंद कर जबरदस्ती गाना गवाया गया।

यह सब करीब पांच घंटे तक हुआ और वह अपने घर लौटे तब तक उनकी तबीयत खराब हो चुकी थी। घर वालों को जब मामले की जानकारी हुई तब उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। अवनीश का कहना है कि वह एक गरीब और दलित परिवार से है। उसके घरवाले अस्पताल का खर्च नहीं उठा सकते, इसलिए उसकी मांग है कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो जिससे किसी और के साथ ऐसा न हो।