Print Friendly, PDF & Email

22नई दिल्ली के प्रगति मैदान में नेशनल बुक ट्रस्ट (एनबीटी) द्वारा भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) के सहयोग से नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला 2017 का आयोजन 7 से 15 जनवरी 2017 तक आयोजित किया जा रहा है| एनबीटी के अध्यक्ष बलदेव भाई शर्मा ने बताया कि आईटीपीओ के सहयोग से आयोजित होने वाले इस मेले में नकदरहित भुगतान की पूरी व्यवस्था की गई है और ई-भुगतान में नेटवर्क किसी तरह की कोई बाधा न डाले इसके लिए आईटीपीओ ने बीएसएनएल के साथ मिलकर विशेष इंतजाम किए हैं। उन्होंने कहा कि आधा दर्जन से ज्यादा एटीएम का इंतजाम किया गया है और कई सचल एटीएम भी होंगे। उन्होंने कहा कि प्रगति मैदान में पुनर्निर्माण का काम चलने की वजह से इस बार जगह की कमी रही और इसलिए इस बार कम प्रकाशकों को जगह मिल सकी। हालांकि आवेदन काफी आए थे।

गत 7  जनवरी को मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री महेन्द्र नाथ पांडे ने पुस्तक मेले का उद्घाटन किया। उन्होंने पुस्तक मेले का विषय मानुषी यानी महिला लेखन रखे जाने की सराहना की। डॉ. महेन्द्र नाथ पांडे ने कहा किजहाँ पुस्तकें ज्ञान का माध्यम हैं  वही तनाव, दुख और परेशानियों जैसे सभी क्षणों में शांति प्रदान करने का बहुत बड़ा सहारा है पुस्तकें| पुस्तकों के महत्त्व को कभी कम नहीं आँका जा सकता|” 

इस बार मेले का विशेष फोकस न्यास की 60वीं वर्षगांठ है और इसमें ‘यह मात्र सिंहावलोकन’ नाम की विशेष प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा, जिसमें राष्ट्रीय पुस्तक न्यास की छह दशकों की पठन-संस्कृति के प्रोन्ययन की यात्रा प्रस्तुत करेगी। मेले की थीम ‘मानुषी’ रखी गई है जो महिलाओं द्वारा और उन पर आधारित लेखन को प्रस्तुत करती है।