स्वस्थ्य कर्मियों के हड़ताल में जाने से अब तक 6 लोगों की मौत

0
33
फाईल
Print Friendly, PDF & Email

धनबाद, झारखंड  
पीएमसीएच में कार्यरत आउटसोर्सिग कर्मियों के हड़ताल से चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है। कर्मियों के हड़ताल से अब तक 6 मरीजों की मौत हो चुकी है। मृतकों में मदनडीह निरसा की बुधनी हांसदा, मधुबन की सबून खातून, मरियम खातून की बच्ची, डिगवाडीह के वासुदेव वर्णवाल, जामताड़ा की रीता शामिल है।

इससे अस्पातल में कोहराम मच गया है, दूसरी तरफ हड़ताल को लेकर राज्य सरकार पूरी तरह असंवेदनशील बनी हुई है। पीएमसीएच में कार्यरत आउटसोर्सिग कर्मी वेतन मान में वृद्धि समेत विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को  हड़ताल पर चले गए थे। यहां 400 से ज्यादा आउटसोर्स कर्मी हैं जिनके कंधे पर अस्पातल का परिचालन निर्भर है।

हड़ताल शुरू होते ही अस्पातल की व्यवस्था चरमरा गई और भर्ती मरीजों की शामत आ गई। दूसरे दिन मंगलवार को अस्पताल में भर्ती पांच मरीजों की जान चली गई। तीन मरीज की मौत की वजह कार्डियो रिस्पेट्री फैल्योर(सीआर फैल्योर) बतायी गई है। हड़ताल न होती तो मरीजों की जान बच सकती थी।





loading...