Print Friendly, PDF & Email

फिल्मों से ज्यादा वे रंगमंच पर सक्रिय यह लेकिन उन्हें मिकी पहचान फ़िल्म ‘लगान’ और ‘सरफरोश’ से। ऐसी है कई फिल्मों से अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके ऐक्टर श्रीवल्लभ व्यास का 7 जनवरी को निधन हो गया।

दरअसल व्यास काफी समय से बिस्तर पर थे और करीबन 2008 में पैरालाइसिस के अटैक के बाद से ही वह बीमारी से जूझ रहे थे। व्यास अपने पीछे पत्नी शोभा और दो बेटियों को छोड़कर गए हैं।

लंबी बीमारी के बाद 60 वर्षीय अभिनेता ने जयपुर में अंतिम सांस ली। व्यास ने लंबे समय तक थिअटर में भी काम किया था। लगान और सरफरोश उनकी भूमिकाएं छोटी ही थीं, लेकिन दर्शकों पर उन्होंने अपने अभिनय से गहरा प्रभाव छोड़ा था।

सरफरोश के आईएसआई के मेजर आलम बेग कर किरदार से ‘लगान’ के ‘ईश्वर काका’ एक उन्होंने काफी काम किया।

फ़िल्म सरदार और सत्ता में उन्होंने एक राजनेता की भूमिका अदा की थी। इसके अलावा 1999 में आई शूल में भी उनकी ऐक्टिंग को काफी सराहना मिली थी। इसके अलावा साल 2008 में आई हॉरर फिल्म ‘1920’ में भी व्यास डॉक्टर के अहम किरदार में दिख चुके हैं।

आखिरी दिनों में वे आर्थिक संकट से गुजर रहे थे और इसी वजह से वह अपने घर जयपुर आ गए थे। उनकी अदाकारी की यादें हमेशा दर्शकों के जेहन में जिंदा रहेंगी।