Print Friendly, PDF & Email

फिल्मों में यौन उत्पीड़न हप्ता है, यह सब जानते हैं लेकिन इस विषय पर सबसे सटीक बात कही है अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने। हॉलिवुड प्रड्यूसर हार्वी वाइंस्टीन के खिलाफ कास्टिंग काउच और यौन उत्पीड़न का जिस तरह आरोप लगा, वह बॉलिवुड तक भी पहुंचा। सोशल मीडिया पर यौन शोषण के खिलाफ चले #MeToo कैंपेन पर बॉलिवुड की कई ऐक्ट्रेसेज ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। अब हाल ही में ऐक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने भी इस पर बड़ा बयान दिया है।
ऋचा चड्ढा ने कहा है कि बॉलिवुड में होने वाले यौन शोषण पर लोग खुलकर नहीं बोलते हैं। उन्होंने कहा, ‘अगर बॉलिवुड में यौन उत्पीड़न की बात होगी तो इंडस्ट्री अपने कई हीरो खो देगी। मुझे नहीं लगता है कि हमारे देश में विक्टिम का नाम उजागर कर उसे शर्मिंदा करने की संस्कृति को देखते हुए ऐसा जल्दी हो पाएगा। हालांकि, जब ऐसा होगा है तो पूरा ढांचा बदल जाएगा।’
ऋचा ने कहा, ‘जिन लोगों को आप फेमिनिस्ट फिल्में बनाते और प्रगतिशील होने का दावा करते देखते हैं, वे सब नीचे गिरने लगेंगे। जिस दिन ऐसा हुआ, उस दिन हम अपने कई हीरो और विरासतें खो देंगे।’ ऋचा कहती हैं, ‘अगले 4-5 साल में ऐसा हो जाएगा जब महिलाएं खुलकर यौन शोषण के खिलाफ बोलेंगी। हॉलिवुड में ऐक्टर्स को रॉयल्टी मिलती है। उनमें काम खोने का डर नहीं होता है। बॉलिवुड के चुप रहने के पीछे एक कारण यह भी है।’
सम्जहने वाली समझ गए होंगे कि ऋचा क्या कहना चाह रही हैं, हालांकि बात तब बने जब कई लोग सब सच बोलें और उन नामों को सार्वजनिक करें जो इस खेल में लिप्त हैं।