एनोस एक्का मामले में आरोप का गठन, फैसला 3 जुलाई को

Print Friendly, PDF & Email

                                                                     सिमडेगा से ग्रास रूट रिपोर्टर देवदर्शन बड़ाईक की रिपोर्ट
सिमडेगा, झारखंड
पारा शिक्षक मनोज कुमार हत्याकांड मामले में आरोप का गठन हो गया। सिमडेगा जिला जज की अदालत ने 17 CLA आर्म्स एक्ट को छोड़कर सभी मामलों में आरोप का गठन कर दिया। इधर कोर्ट के फैसले से दिवंगत मनोज कुमार के परिजनों ने संतुष्टि जतायी है। बहुप्रतीक्षित फैसले को लेकर मनोज के तीनों भाई सिमडेगा कोर्ट पहुंचे हुए थे। मनोज कुमार के छोटे भाई संजय कुमार ने हिन्द वॉच मीडिया को बताया कि उन्हें अदालत की कार्यवाही के साथ साथ शुरू से ही न्यायिक प्रक्रिया पर भरोसा था, कि उनके भाई के कातिलों को जरूर सजा होगी।
विदित हो कि कोलेबीरा प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय, जताटांड के पारा शिक्षक मनोज कुमार की पीएलएफआई के बारूद गोप के दस्ते ने 26 नवम्बर को स्कूल से अगवा कर हत्या कर दिया था। इस मामले को लेकर बारूद गोप सरकारी गवाह भी बना था। इस के बाद से ही इस मामले में नया मोड़ आया था।
एनोस एक्का पहली बार वर्ष 2005 में झापा की टिकट पर विधायक बने थे तथा तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के सरकार में एक साथ पांच विभाग के मंत्री भी बने थे। तब से लेकर अब तक इनके क्रियाकलाप झारखंड की राजनीति में सुर्खियों में रहा है।
पोस्टल कोड 835201 835211 835212 835223 835226 835228 835235





loading...