मोदी के खिलाफ उंगली उठाई तो काट देंगे हाथ : नित्यानंद राय

0
76
Print Friendly, PDF & Email

एक और नेता का कट्टरवादी मानसिकता का परिचय देता हुआ बायाँ आया है। लगता है नेता जी मोदी जी के अंधभक्त हैं इसलिए भावनाओं में बहकर ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं जो किसी तालिबानी या तुगलकी फरमान सरीखी सुनाई दे रही है। दरअसल बिहार बीजेपी के अध्यक्ष नित्यानंद राय ने एक विवादित बयान दिया है। ओबीसी समुदाय के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उजियारपुर लोकसभा सीट से सांसद राय ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कठिन परिस्थितियों में देश का नेतृत्व कर रहे हैं। यदि उनके ऊपर कोई उंगली या हाथ उठाएगा तो उसे या तो तोड़ दिया जाएगा या काट दिया जाएगा।’ राय के इस विवादित बयान पर राजनीतिक गलियारे में आलोचना का दौर शुरू हो गया। विवाद बढ़ता देख राय ने अपना बयान वापस ले लिया।
उन्होंने कहा, ‘उनकी ओर (पीएम मोदी) उठने वाली उंगली को, उठने वाले हाथ को…हम सब मिलके या तो तोड़ देंगे, जरूरत पड़ी तो काट देंगे।’ इस कार्यक्रम के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी भी मंच पर मौजूद थे।
उधर, विवाद बढ़ने नित्यानंद राय ने सफाई दी है कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया है। उन्होंने कहा कि हाथ काट देने की बात उन्होंने कहावत के रूप में कही थी। राय ने कहा, ‘मेरे कहने का मतलब था कि देश की आन और सुरक्षा पर सवाल उठाने वालों के साथ कड़ाई से निपटा जाएगा।’ इस बीच राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बिहार बीजेपी अध्यक्ष के बयान की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि राजनीति में गंदे लोग आ गए हैं।
पत्ता नहीं ये नेता कब अपने पद या लोकतंत्र की गरिमा समझेंगे और बोलने से पहले मर्यादा में रहेंगे।





loading...