Print Friendly, PDF & Email

राजनीति में शर्मनाक बयानबाजी का स्तर इतना गिर गया है कि नेता सारी सीमाएं लांघ कर ऐसा कह डालते हैं जो जो राजनीति की गरिमा को और पतन की तरफ ले जाते हैं। जैसे कि राजस्थान में अलवर जिले में कथित गो तस्कर जाकिर खान की भीड़ द्वारा बुरी तरह पिटाई के मामले बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने विवादित बयान दिया है। अपने बयानों से अक्सर चर्चा में रहने वाले आहूजा ने कहा, ‘उसे जनता ने नहीं पीटा, वह बहाना कर रहा है।

गौरतलब है कि अलवर जिले के बंसूर क्षेत्र में 46 वर्षीय जाकिर की स्वघोषित जागरुक समूह के 15 लोगों ने बुरी तरह से पिटाई कर दी थी। सूचना मिलते ही जाकिर को पुलिस ने बचा लिया और उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

कुछ समय पहले भी बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने राहुल को खिलजी की औलाद बताया। जीवीएल ने ट्वीट किया, ”अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने के लिए राहुल गांधी ने ओवैसिस, जिलानिस से हाथ मिला लिया है। राहुल गांधी निश्चित रूप से एक “बाबर भक्त” और “खिलजी के रिश्तेदार” हैं। बाबर ने राम मंदिर को नष्ट कर दिया और खिलजी ने सोमनाथ को लूट लिया।

नेहरू वंश दोनों इस्लामी आक्रमणकारियों के पक्ष में।” बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने भी राहुल पर हमला बोला था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खिलजी की औलाद लगते हैं, एक तरफ वो मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं वहीं उनकी पार्टी के कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में मंदिर का विरोध कर रहे हैं। अगर मंदिर 2019 से पहले नहीं बना तो देश के लोगों के साथ अन्याय होगा।

भाजपा नेता के ट्वीट पर कांग्रेस ने पलटवार किया। कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया कि बीजेपी नेताओं के प्रवक्ता के बयान को देखें तो उनके लिए सबसे अच्छी जगह पागलखाना है। उन्हें अपने दिमाग का इलाज करवाना चाहिए, जल्द ठीक हों!।

गौरतलब है कि ऐसी बयानबाजी बीजेपी नेता ही ज्यादा करते हैं।