Print Friendly, PDF & Email

पणजी, गोवा
मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की तबीयत खराब होने के बाद से राजनीतिक उठापटक तेज हो गई है। इसी के फलस्वरुप कांग्रेस ने सरकार बनाने को लेकर जद्दोजहद करना प्रारंभ कर दिया है। कांग्रेस के 14 विधायकों ने राजभवन जाकर सरकार बनाने का दावा पेश किया। इसी को ध्यान में रखकर सोमवार को कांग्रेस के विधायक राज्यपाल से मिलने गए। राज्यपाल से मुलाकात नहीं हो पाई। इसके बाद कांग्रेस नेता राजभवन में एक पत्र छोडक़र चले आए। इसमें उन्होंने राज्यपाल से सरकार बनाने के लिए मौका देने का आग्रह किया है।

कांग्रेस विधायिका दल के अध्यक्ष चंद्रकांत कवलेकर ने बताया कि हम चाहते हैं कि 18 महीने के भीतर वापस चुनाव प्रक्रिया आरंभ नहीं हो। इसलिए हमने ज्ञापन में बताया कि यदि वर्तमान सरकार काम करने में सक्षम नहीं है तो हमें मौका दिया जाना चाहिए। हम पूरा कार्यकाल करेंगे। गोवा में कांग्रेस के पास 16 विधायक हैं। सरकार बनाने के लिए मौका मांगने के लिए 14 विधायक साथ थे। लेकिन किसी कारण से राज्यपाल से मुलाकात नहीं हो पाई है।

उल्लेख है कि लंबे समय से बीमार चल रहे पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को शनिवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया दिया गया था। उनकी बिगड़ती तबीयत को देखते हुए यह अटकलें लगाई जा रही थीं कि राज्य में उनकी जगह किसी अन्य को नया मुख्यमंत्री बनाया जा रहा है। लेकिन भाजपा ने इन अफवाहों पर विराम लगा दिया है। इसके बाद यह बात जोर पकड रही है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लग सकता है।