Print Friendly, PDF & Email

सिकन्द्राऊ- कोतवाली क्षेत्र के गांव बरामई निवासी बालक की लाश कल थाना हाथरस जंक्शन के कैलोरा के एक खेत में दबी मिलने के बाद पुलिस ने लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया गया था।

वहीं आज पोस्टमार्टम के बाद शव गांव में पहुँचने पर जहां कोहराम मच गया वहीं परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था तथा शव को अंतिम संस्कार पुलिस की मौजूदगी में किया गया।

बता दें कि बीती 25 फरवरी को 9 वर्षीय प्रशांत पुत्र शकंरपाल निवासी गांव बरामई हाल निवासी ईदगाह रोड अपने मित्रों के साथ मैच खेल रहा था तभी कार सवार बदमाश उसका अपहरण करके ले गए थे।

पीड़ित पिता ने कोतवाली में चार नामजदों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस मामले को गम्भीरता से न ले सकी और अपहरणकर्ताओं ने बालक की हत्या कर दी।

प्रशांत का शव थाना हाथरस जंक्शन क्षेत्र के गांव ठुलई स्थित एक ढाबे के पीछे खेत में बोरे के अंदर गड़ा मिला था। छात्र का शव मिलते ही परिजनों में भारी कोहराम मच गया।

पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया था। पोस्टमार्टम के बाद शव आज जब गांव में पहुँचा तो परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था। पोस्टमार्टम के बाद शव गांव में आने की सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया।

शव के आने के बाद कोई बवाल न हो इसके लिए भारी मात्रा में जनपद से पुलिस बल बुलाकर तैनात किया गया। अपर पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार, कोतवाल मनोज कुमार शर्मा भी मौजूद रहे। परिजनों ने पुलिस की मौजूदगी में शव का अंतिम संस्कार किया है।

सिकन्द्राराऊ कोतवाली क्षेत्र के ईदगाह रोड़ के रहने वाले शंकर पाल ने बताया कि उसकी चार बेटियां है दो प्रशांत से छौटी व दो बड़ी उसके वो एक ही पुत्र है, अपने इकलोते बैटे की तलाश में 25 फरवरी से अपनी रिश्तेदारी व पुलिस थानों के चक्कर लगा रहे थे पर गुम हुये प्रशांत की कोई जानकारी नहीं मिली।

शंकलपाल का कहना है कि उसके शरीर पर बनियान और उसके हाथ में कड़े से मेने इसकी पहचान की है कि मेरा ही पुत्र है।





SHARE
पिछली खबरशर्मनाक: बच्चे के इलाज के लिए भीख मांगती मां
अगली खबर जयललिता की मौत से पहले का एक अहम खुलासा किया शशिकला ने
नीरज चक्रपाणी उत्तर प्रदेश के हाथरस में सक्रीय पत्रकारिता कर रहे हैं। रिपोर्टिंग का लम्बा अनुभव रखने वाले नीरज ने अनेक प्रतिष्ठित मीडिया सस्थानों के साथ काम किया है। नीरज हिंद वॉच मीडिया के लिए हाथरस से नियमित तौर पर स्वतंत्र एवं स्वैच्छिक रूप से रिपोर्टिंग करते रहे हैं। सटीक, निर्भीक और प्रमाणिक जमीनी पत्रकारिता उनकी विशेषता है। हिंद वॉच मीडिया समूह जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रहा है। साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल, वेब चैनल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता और निडरता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाने के लिए हिंद वॉच मीडिया पूरी समर्पण से काम करता है। भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है।