तस्वीर : हिंद वॉच
Print Friendly, PDF & Email

सिमडेगा से ग्रास रुट रिपोर्टर देवदर्शन बड़ाईक की रिपोर्ट
सिमडेगा, झारखंड
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोलेबिरा का उपायुक्त जटाशंकर चौधरी द्वारा औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में कई खामियां उजागर हुई। स्वास्थ्य केंद्र में जहां चिकित्सक अनुपस्थित मिले तो वहीँ कई स्वास्थ्य कर्मी भी ड्यूटी से गायब पाये गए। ड्यूटी रोस्टर के अनुसार स्वास्थ्यकर्मी नहीं थे, तो दूसरी ओर स्टॉक रजिस्टर सहित उपस्थित पंजी, दवाई वितरण पंजी में भी कई त्रुटियां पाई गई। उपायुक्त द्वारा अचानक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया जाने के वक़्त चिकित्सक भी उपस्थित नहीं थे।

आनन फानन में उपायुक्त के आने के बाद प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. राकेश कुमार को बुलाया गया और उनकी उपस्थिति में सारे रजिस्टर की जाँच की गई। जाँच में महीनों से दवाई का एंट्री नहीं होने सहित डॉ. शिल्पी के 9:00बजे से 12:00बजे तक अनुपस्थित रहने का भी खुलासा हुआ। डॉ. शिल्पी इससे पहले भी 3 से 5 अगस्त को डयूटी से गायब पाई गई।

13जुलाई के बाद कोई भी दवाई का स्टॉक रजिस्टर में संधारण नहीं किये जाने पर उपायुक्त ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी कोलेबिरा को फटकार लगाते हुए कहा कि इन सब कुछ पर आगे से ध्यान रखें। जिन दवा की आवश्यकता नहीं है, उन्हें कम एवं जिनकी आवश्यकता अधिक है, उसे स्टॉक में रखने की बात कही।

डीसी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में व्याप्त अव्यवस्था को लेकर सिविल सर्जन सिमडेगा को स्पष्टीकरण हेतु पत्राचार करने का निर्देश कोलेबिरा बीडीओ अजय भगत को दिया गया। उपायुक्त द्वारा इससे पूर्व एमटी सी सेंटर का भी निरीक्षण किया गया तथा सेन्टर में भर्ती बच्चों के माताओं से केन्द्र में दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली गई।
पोस्टल कोड 825223 835201 835226 835211 835220