Print Friendly, PDF & Email

हाथरस- एससी एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आये फैसले के बाद दलितों द्वारा किये गये प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारी दलितों पर हुये लाठीचार्ज के विरोध में  प्रदर्शन किया।

प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा जिलाध्यक्ष करूणेश मोहन दीक्षित के नेतृत्व में इंकाईयों ने जोरदार प्रदर्शन किया।

फिर जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना देकर राज्यपाल के नाम ओसी कलैक्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा जिसमें प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने तथा प्रदर्शन के दौरान मरने वालों को उचित मुआवजा देने की मांग की गई।

पुरानी कलैक्टेªट में कांग्रेसी एकत्रित हुये और यहां से हाथों में तिरंगा लेकर केन्द्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुये जिलाधिकारी कार्यालय कूच कर गये, वहां जोरदार प्रदर्शन कर धरना पर बैठ गये। धरना स्थल पर ओ.सी. कलैक्टेट इन्द्रसेन आये और उन्होंने ज्ञापन लिया।

ज्ञापन में केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार कानून व्यवस्था संभालने में विफल रही हैं। दलितों पर लाठीचार्ज कर दलित विरोधी चेहरा भाजपा का सामने आया है।

दलितों पर अत्याचार करने वाली प्रदेश सरकार को तत्काल वर्खास्त करने की मांग की गई। साथ ही घायल व मृतक दलितों को उचित मुआवजा दिलाने की मांग की गई।

प्रदर्शन में डा. मुकेश चन्द्रा, पं. ऋषिकुमार कौशिक, अशोक गुप्ता, संजीव आंधीवाल, ठा. कृपेन्द्र सिंह, सभासद विनोद कर्दम, वीरेन्द्र उपाध्याय, प्रदीप तैनगुरिया, हरीशंकर शर्मा, गोविन्द शरण चतुर्वेदी, सुरेशचन्द्र शर्मा, सुनील गौड़, संजय गौतम, राधेश्याम नगायच, रामकुमार सारस्वत, त्रिलोकचन्द शर्मा, गनेशीलाल शर्मा, राजेश गोस्वामी, अजय भाराद्वाज एड., जितेन्द्र गौतम एड., ओ.पी. छोंकर, प्रशान्त कौशिक, मनीष कूलवाल आदि थे।