पीएनबी घोटाले में नीरव मोदी पर ED की बड़ी कार्रवाई

637 करोड़ रु. की संपत्ति जब्त

Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली
पंजाब नेशनल बैंक में सबसे बडे बैंकिंग घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की मुहिम रंग लाते हुए दिख रही है। नकेल कसने के लिए मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ भारत सहित चार देशों में मोदी और उसके परिवार की 637 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली गई है। इसमें प्रॉपर्टीज और बैंक अकाउंट्स शामिल हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के तहत इन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट ने न्यूयॉर्क (अमेरिका) में नीरव मोदी की 216 करोड़ रुपए मूल्य की 2 अचल संपत्ति जब्त कर ली गई है। अरबपति ज्वैलर नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी ने करीब 14 हजार करोड़ रुपए के घोटाला किया है। घोटाले का पर्दाफाश होने से पहले दोनों इस साल जनवरी में देश छोडक़र भाग गए।

मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी पर बैंक घोटाला करने के बाद फरार होने का आरोप है। फिलहाल मोदी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी कर रखा है। इस संपत्ति में ईडी ने कई सारी अंगूठी, हीरे-जेवरात, बैंक खाते व एक फ्लैट को जब्त किया है।

अदालत ने दोनों को 25 सितंबर को सुबह 11 बजे अदालत के समक्ष पेश होने को कहा था। इसी तारीख को नीरव मोदी को भी पेश होने के लिए कहा गया था।

नीरव मोदी के खिलाफ तीसरे सार्वजनिक नोटिस में उसे उसी दिन और उसी वक्त अदालत में पेश होने के लिए कहा गया। इसमें कहा गया है, ‘‘जैसा कि तुम देश छोड़ कर भाग गए हो और मामले की सुनवाई के लिए आने से इनकार कर रहे हो तो इस हालत में तुम्हें उपरोक्त अध्यादेश के तहत भगोड़ा घोषित किया जाना चाहिए।’’

ईडी ने धन शोधन कानून(पीएमएलए एक्ट) के तहत जिन संपत्तियों को जब्त किया है उसमें 5 विदेशी बैंक खाते (कुल राशि 278 करोड़ रुपये), हांगकांग से बरामद की गई हीरे की ज्वैलरी (22.69 करोड़ रुपये) और 19.5 करोड़ रुपये के मूल्य का दक्षिण मुंबई में स्थित एक फ्लैट शामिल है। इसके अलावा ईडी ने 216 करोड़ रुपये मूल्य की न्यूयॉर्क में स्थित दो संपत्तियों को भी जब्त किया है। ईडी ने यह कार्रवाई पीएमएलए एक्ट के सेक्शन 5 के तहत की है।





loading...