Print Friendly, PDF & Email

mufti

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सरकार ने 25 जनवरी  को सरकार ने को विभिन्न क्षेत्रों से 89 लोगों के लिए पद्म अवार्ड की घोषणा की है। लेकिन सूत्रों का कहना है कि इस अवार्ड के लिए तैयार की गयी सूची में अंतिम क्षणों में परिवर्तन किया गया और मुफ्ती मोहम्मद सईद का नाम हटा दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक अधिकारी ने बताया कि लिस्ट को सार्वजनिक करने और विजेताओं के नाम फाइनल करने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कई विजेताओं से बात की थी।

अधिकारी ने बताया कि “मुफ्ती के मामले में परिवार वाले उत्सुक नहीं थे। साथ ही अधिकारी ने बताया, उनके नाम पर अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुंदर लाल पटवा जिनकी मौत दिसंबर 2016 में हुई और पूर्व लोकसभा स्पीकर पीए संगमा के साथ विचार किया गया था।”

सूत्रों के मुताबिक मुफ्ती के परिवार वाले इसको लेकर उत्सुक नहीं थे। कश्मीर में पहला पीडीपी और भाजपा गठबंधन करने वाले सईद की मौत जनवरी 2016 में हुई थी। सईद पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री भी रह चुके हैं।

सईद ने मार्च 2015 में दूसरी बार जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री का पद संभाला था। इस बार उन्होंने पहली बार भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन किया था। सईद की मौत सात जनवरी 2016 को नई दिल्ली में एम्स में हुई थी। इसके बाद पीडीपी प्रमुख, उनकी बेटी और राजनीतिक उत्तराधिकारी महबूबा मुफ्ती राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं।