प्रतीकात्मक चित्र
Print Friendly, PDF & Email

सरायकेला, झारखंड
जिले के राजनगर प्रखंड के शोभापुर में बच्चा चोर की अफवाह पर चार लोगों की ग्रामीणों द्वारा पीट-पीट कर हत्या करने के दौरान प्रशासन को कार्रवाई करने से रोकने और गाड़ियां जलाने के मामले में 12 आरोपियों को चार-चार साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है। इसके साथ ही दो-दो हजार का जुर्माना भी लगाया गया है, जबकि तीन आरोपियों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया गया। सोमवार को अपर जिला सत्र न्यायाधीश प्रथम आशीष सक्सेना की अदालत ने सजा सुनाई।

इस संबंध में अपर लोक अभियोजक मणिकांत विजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि इस घटना में मो। नईम नामक एक व्यक्ति की मौत हो गयी। गौरतलब है कि घटना के दिन स्थानीय मुर्तजा अंसारी के घर लोगों ने बच्चा चोरी की अफवाह में घुसकर तोड़फोड़ और मारपीट की थी, जबकि घायलों को अस्पताल ले जाने वाली पुलिस टीम पर भी हमला कर वाहन में तोड़फोड़ की गयी थी और पुलिस जीप को आग के हवाले कर दिया गया था। इस मॉब लिचिंग मामले में कुल चार लोगों की मौत हो गयी थी, जबकि तीन ने अस्पताल में दम तोड़ा था।

कोर्ट ने कृष्णा साहू, भागीरथी ज्योतिषी, कुंदा ज्योतिषी, फाल्गुनी ज्योतिषी, तरुण ज्योतिषी, अरुण ज्योतिषी, कृष्णा ज्योतिषी, कान्हु ज्योतिषी, चतुर्भुज साहू, लालटू लोहार, सीताराम साहू व बड़ाकान्हु ज्योतिषी को सजा सुनाई है। जबकि लक्ष्मीकांत बेहरा उर्फ भुटन, अगस्ती साहू व पंकज कुमार नाग को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया गया।
पोस्टल कोड 833219