(फाइल फोटो)
Print Friendly, PDF & Email

रांची, झारखंड
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गुरुवार को प्रोजेक्ट भवन स्थित सभा कक्ष में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और कहा, कृषि प्रधान देश में किसानों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने हेतु 4 जुलाई 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐतिहासिक निर्णय लिया है। फसलों के समर्थन मूल्य में अप्रत्याशित वृद्धि केंद्र सरकार द्वारा की गई है।
प्रधानमंत्री के इस फैसले से देश के किसानों का आर्थिक उन्नयन होगा। इस निर्णय का पूरा-पूरा लाभ झारखंड के किसानों को मिलेगा। झारखंड राज्य में खरीफ मौसम में धान, मक्का दलहन में अरहर, उड़द, मूंग, कुलथी, एवं तिलहन में मूंगफली, तिल, सरगुजा, सोयाबीन इत्यादि की खेती की जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों को फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ मिल सके, इसके लिए धान अधिप्राप्ति भी सरकार की ओर से की जा रही है। वर्ष 2017-18 में भारत सरकार द्वारा धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य रुपए 1550 निर्धारित किया गया, राज्य सरकार द्वारा अपने स्तर से रुपए 150 प्रति क्विंटल बोनस देते हुए रुपए 1700 रुपए प्रति क्विंटल दी जा रही है। केंद्र सरकार द्वारा 4 जुलाई 2018 को धान की फसल में रु. 200 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की घोषणा की गई साथ ही अन्य खरीफ फसलों में भी केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की घोषणा की गई। इस ऐतिहासिक निर्णय से झारखंड राज्य की कुल 20 लाख किसानों को धान की फसल की अधिप्राप्ति पर रुपए 1022 करोड़ का अतिरिक्त लाभ होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि धान के अतिरिक्त अन्य फसल मकई, अरहर आदि में लगभग 10 लाख किसानों को बाजार मूल्य बढ़ने से लगभग 350 करोड़ रुपए का लाभ होगा। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य निम्न प्रकार बढ़ाया गया है-

  • धान के समर्थन मूल्य में रु.200 प्रति क्विंटल बढ़ोतरी की गई है। धान का पुराना समर्थन मूल्य 1550 रुपए था जो अब बढ़कर 1750 रुपए किया गया है।
  • मकई का पुराना समर्थन मूल्य 1425 प्रति क्विंटल था जो अब बढ़कर रु.1700 प्रति क्विंटल किया गया है
    मकई में रु.275 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
  • अरहर का पुराना समर्थन मूल्य रु.5450 प्रति क्विंटल था जो अब बढ़ाकर 5675 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है। अरहर में रु.225 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
  • मूंग का पुराना समर्थन मूल्य 5575 रुपए था जो अब बढ़ाकर 6975 रुपये किया गया है। मूंग में रु.1400 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
  • उड़द का पुराना समर्थन मूल्य 5400 रुपए प्रति क्विंटल था जो अब बढ़ाकर 5600 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है। उड़द में रु.200 की प्रति क्विंटल कीमत में वृद्धि हुई है।
  • रागी का पुराना समर्थन मूल्य रु.1900 प्रति क्विंटल था जो अब बढ़ाकर 2897 रुपए प्रति क्विंटल किया गया है। रागी में रु.997 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
  • मूंगफली का पुराना समर्थन मूल्य रु.4450 प्रति क्विंटल था जो अब बढ़ाकर 4890 रुपए प्रति क्विंटल की गई। मूंगफली में रु.440 प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव गरीब और किसान का सर्वांगीण विकास ही सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।
    पोस्टल कोड 834001