Print Friendly, PDF & Email
अनिल बड़ाईक
Mgt. in Tourism, IITTM
Ex Faculty,Tourism & Travel Mgt.
Doranda College, Ranchi

विश्व के बहुत सारे लोग संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित 27 सितम्बर प्रतिवर्ष विश्व पर्यटन दिवस के रूप में मनाते हैं। इस दिवस का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय समुदाय को पर्यटन के सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनैतिक और आर्थिक मूल्यों के महत्व के बारे में जागरूक करना है। सन 1980 से संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन 27 सितंबर के दिन विश्व पर्यटन दिवस को एक अंतर्राष्ट्रीय उत्सव के रूप में मनाना शुरू किया। यह दिन इसलिए चुना गया क्यों कि 27 सितंबर 1970 को ही UNWTO संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन में लिखित संविधान को ग्रहण किया गया था।

विश्व पर्यटन दिवस की स्थापना
यह तीसरा सत्र था जब UNWTO संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन स्पेन के टेर्रेमोलोनिस में सन 1979 में UNWTO के जेनेरल असेंबली द्वारा निश्चित किया गया कि विश्व पर्यटन दिवस 27 सितम्बर 1980 को मनाया जायेगा क्योंकि यही वह महत्वपूर्ण दिन था जब UNWTO विश्व पर्यटन संगठन ने एक लिखित संविधान को 27 सितम्बर 1979 को स्वीकार किया व वर्षगांठ सन 1980 के 27 सितम्बर के दिन ही विश्व पर्यटन दिवस के रूप में सहमती बनना एक मील का पत्थर साबित हुआ।
यह समय विश्व पर्यटन दिवस मनाने के लिए सटीक बैठा क्योंकि यह समय पर्यटन मौसम( season) के लिहाज़ से विश्व के दक्षिणी गोलार्ध छेत्र के पीक सीजन का लगभग अंत समय होता है।

विश्व पर्यटन दिवस का थीम (विषय) और औपचारिक उत्सव 
प्रत्येक वर्ष पर्यटन दिवस के लिए एक विशेष theme (विषय) चुना जाता है जिसका चयन UNWTO के जनरल असेंबली द्वारा होता है जिसकी संस्तुति UNWTO के सेक्रेटरी जनरल करते हैं और उन्ही के द्वारा एक विशेष सन्देश प्रसारित किया जाता है जो प्रत्येक वर्ष अलग होता है और इस उपलक्ष्य में एक प्रतीक के साथ इस उत्सव को मनाते हैं और उसकी अध्यक्षता भी करते हैं।

वर्ष 2017 विश्व पर्यटन दिवस को sustainable Tourism Development के रूप में घोषित किया गया था। इसका  अभिप्राय- संयुक्त राष्ट्र के सभी देशों और सदस्य राज्यों को सस्टेनेबल पर्यटन विकास के लिए प्रोत्साहित करना व सभी स्तर पर उन्हें महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय सहयोग द्वारा लाभ प्रदान कर उनका विकास करना। इसका उद्देश्य रहा- विशेषतः गरीबी उन्मूलन करना।

27 सितम्बर 2018 विश्व पर्यटन दिवस की औपचारिक घोषणा का थीम है-
“Tourism and Digital Transformation”

इस वर्ष विश्व पर्यटन दिवस के केंद्र बिंदु में जो हंगरी के बुडापेस्ट में मनाया जायेगा उसका लक्ष्य है- पर्यटन में डिजिटल टेक्नोलॉजी के महत्व, पर्यटन के लिए नवीन पद्धतियों द्वारा अवसर उपलब्ध कराना। इसकी मूल भावना है लोगों में पर्यटन के प्रति जागरूकता लाना जिसमें यह बताने की कोशिश की जाएगी कि पर्यटन विकास अनेक निश्चित संभावनाओं को जन्म देता है। पर्यटन के सस्टेनेबल डेवलपमेंट के द्वारा एक निश्चित व संभावित विकास पर महत्वपूर्ण योगदान देता है।

यह वर्ष विश्व पर्यटन दिवस उन संभावनाओं को बल प्रदान करेगा जो पर्यटन के लिहाज़ से तकनीकी विकास के साथ-साथ बड़े आंकड़ों व कृत्रिम ज्ञान का सदस्य देशों के जीवन स्तर में विकास के लिए डिजिटल मंच प्रदान करेगा। इस वर्ष का विश्व पर्यटन दिवस भविष्य में डिजिटल विकास और नवीन पद्धति (तकनीकों) को तेजी से होने वाली वृद्धि के साथ और ज्यादा उत्तरदायित्वपूर्ण और सस्टेनेबल पर्यटन क्षेत्र के विकास में सहायता प्रदान करेगा।