Print Friendly, PDF & Email

सिमडेगा (झारखण्ड) से भास्कर मनी पाठक की रिपोर्ट।
झारखंड में रघुवर दास की अगुवाई वाली सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा को ताजा उपचुनाव के नतीजे से झटका लगा है। कोलेबीरा विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव के नतीजे कांग्रेस के पक्ष में गए हैं। यहां 20 दिसंबर को मतदान हुआ था और रविवार (23 दिसंबर) को घोषित नतीजों में कांग्रेस के नमन बिक्सल कोंगाड़ी 9,658 वोटों के अंतर से विजयी घोषित किए गए।

उन्हें 40,343 वोट, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी को 30,685 वोट मिले। झारखंड में 2019 में विधानसभा चुनाव होने हैं। कांग्रेस की हाल में तीन बड़े हिंदी भाषी राज्यों में जीत के बाद इस उपचुनाव में मिली विजय को भी भाजपा सरकार के विरोध में संकेत माना जा रहा है।

गौरतलब है कि वर्ष 2014 में हुए विधानसभा चुनाव कोलेबीरा सीट से झारखंड पार्टी के एनोस एक्का ने जीत हासिल की थी। एक्का को पैरा टीचर की हत्या के मामले में दोषी साबित होने पर विधानसभा की सदस्यता से हाथ धोना पड़ा था। इसलिए इस सीट के लिए उपचुनाव कराया गया।

(कांग्रेस के विजयी प्रत्याशी नमन बिक्सल कोंगाड़ी)

उपचुनाव में पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के झारखंड विकास मोर्चा ने कांग्रेस को समर्थन दिया। इस जीत के साथ 82 सीटों वाली विधानसभा में कांग्रेस के आठ सदस्य हो गए हैं। कांग्रेस ने पिछले 15 वर्षों में यह सीट पहली बार जीती है। बता दें कि कोलेबिरा को नक्सल प्रभावित इलाका माना जाता है, जहां भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच गुरुवार को मतदान कराया गया था। जहां करीब 64 प्रतिशत मतदाताओं ने अपेन मत के अधिकार का इस्तेमाल किया। खास बात यह रही कि उपचुनाव के दौरान किसी भी प्रकार की हिंसा की खबर नहीं आई थी। सीट पर कुल 5 उम्मीदवार चुनाव अपनी किस्मत आजमाने के लिए उतरे थे। जिनमें बीजेपी के बसंत सोरेंग, झारखंड पार्टी की मेनन एक्का और कांग्रेस के नमन विक्सेलकोंगाडी प्रमुख हैं। इनके अलावा सेंगेल पार्टी के अनिल कंदुलना और निर्दलीय बसंत डुंगडुंगभी चुनाव मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे थे।

गुजरात उपचुनाव : वहीं दूसरी ओर गुजरात के जसदन विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को जीत मिली है। यहाँ बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ रहे बावलिया जीत हासिल कर चुके हैं। उन्होंने 19985 वोटों से जीत दर्ज की। इस सीट से विधायक कुंवरजी बावलिया ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी जॉइन कर ली थी, इसके बाद वहां उपचुनाव कराए गए। उपचुनाव में कांग्रेस के अवसर नकिया दूसरे नंबर पर रहे।