NEW DELHI, DEC 4 (UNI):- RJD leader Lalu Prasad Yadav beeing seen off by Samajwadi Party supremo Mulayam Singh Yadav after a meeting to discuss the modalities for their marger and form a new political outfin in New Delhi on Thursday. UNI PHOTO-28u
Print Friendly, PDF & Email

Image result for lalu prasad and mulayam

समाजवादी पार्टी में मतभेद के बीच कई लोग सुलह समझौता कराने में लगे हैं|राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव अनुसार“मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें साफ़ कर दिया है कि फ़िलहाल अगले तीन महीने के लिए वह राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहेंग|” लालू यादव ने 9जनवरी की शाम को अखिलेश यादव से बात की थी|इससे पहले भी उन्होंने अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव दोनों से बात की थी|

लालू का कहना है कि “अखिलेश ने दो टूक साफ़ कर दिया है कि फ़िलहाल वह अध्यक्ष बने रहेंगे लेकिन चुनाव के बाद खुद पार्टी की बैठक बुलाकर फिर अध्यक्ष की कुर्सी दे देंगे|” अखिलेश ने लालू यादव से कहा कि “वह अभी भी अपने पिता और पार्टी के साथ पूर्ववत ही हैं|”

एनडीटीवी की खबर के अनुसार, लालू यादव ने मुलायम सिंह को सूझबूझ वाला नेता बताते हुए परिवार के इस विवाद के लिए अमर सिंह को जिम्मेदार बताया और आड़े हाथों लेते हुए कहा कि “वह टीवी पर कविता करते रहते हैं| लेकिन, जब हाथ में सत्ता है तब बिगाड़ने का काम नहीं करना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि सबको मिला लिया जाये|”

लालू का मानना है कि समाजवादी पार्टी के इस आन्तरिक विवाद का किसी को खासकर बीजेपी को कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के अपने प्रतिबद्ध वोटर हैं जो वर्षों से उन वर्गों और जाति के लिए काम के आधार पर जुड़े हैं|

हालांकि लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव ने पहले से घोषणा की हैं कि वो उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार में जाएंगे लेकिन पार्टी में विभाजन की परिस्थिति में ये तय माना जा रहा है कि लालू अखिलेश का साथ नहीं छोड़ेंगे| इसके पीछे ये तर्क दिया जा रहा है कि लालू यादव के दामाद तेज प्रताप यादव अखिलेश यादव के नजदीकियों में से एक हैं|