Print Friendly, PDF & Email

एक तरफ पूरा देश महंगाई और जीएसटी से कराह रहा है| व्यापारी बड़ा हो या छोटा, हर को मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों से तंग है और सरेआम आलोचना करने से पीछे नहीं है| देश के कई हिस्सों में मोदी सरकार की आर्थिक नीतिओं के खिलाफ बाकायदा बंद का भी आयोजन किया गया है| उधर पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने भी सरकार को आर्थिक मोर्चे पर फेल बता दिया है| इसके बावजूद सरकार उन्ही को शल्य बताकर मामले को रफा दफा करती दिखी| इस बीच सरकार ने भी माना कि आर्थिक मोर्चे पर जीएसटी में कुछ गड़बड़ हुई है| शायद इसीलिये कुछ सुधार भी किये गए हैं| ऐसे में अमेरिकी संस्था मूडीज ने सम्प्रभु देशों की रेटिंग में भारत के स्थान में सुधार करते हुए उसे ‘बीएए2’ कर दिया है| तो सुगबुगाहट का बाजार गर्म हो गया है कि कहीं मूडी भी मोदी सरकार का हवाई गुणगान तो नहीं कर रहे हैं|

बहरहाल खबर है कि देशों को क्रेडिट रेटिंग देने वाली अमेरिकी संस्था मूडीज ने सम्प्रभु देशों की रेटिंग में भारत के स्थान में सुधार करते हुए उसे ‘बीएए2’ कर दिया है| मूडीज द्वारा किया गया यह सुधार भारत के लिए बड़ा सकारात्मक कदम है| मूडीज ने 13 वर्ष के बाद भारत की क्रेडिट रेटिंग में सुधार किया है| इससे पहले वर्ष 2004 में संस्था ने भारत की क्रेडिट रेटिंग में सुधार करते हुए उसे ‘बीएए3’ किया था| मूडीज द्वारा रैंकिंग में सुधार किए जाने के बाद शेयर बाजारों में भी उछाल देखने को मिला| वर्ष 2015 में संस्था ने भारत की क्रेडिट रेटिंग को ‘स्थिर’ से बढ़ाकर ‘सकारात्मक’ कर दिया था| ‘बीएए3’ न्यूनतम निवेश श्रेणी की रेटिंग थी जो ‘जंक’ दर्जे से थोड़ी ही ऊपर है| एजेंसी की तरफ से कहा गया है कि आर्थिक सुधारों की दिशा में बढ़ोतरी की वजह से भारत की क्रेडिट रेटिंग बढ़ाई गई है|

प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी इस बाबत ट्वीट कर कहा कि ‘मूडीज का मानना है कि नरेंद्र मोदी सरकार के सुधारों से भारत में कारोबारी माहौल में सुधार होगा, उत्पादकता में वृद्धि होगी, विदेशी और घरेलू निवेश को प्रोत्साहित करेगा और अंततः मजबूत और सतत विकास को बढ़ावा मिलेगा’| रेटिंग बढ़ाए जाने पर भाजपा अध्याक्ष शाह ने सिलसिलेवार कई ट्वीट कर मोदी सरकार के कामकाज की तारीफ की है| उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘मोदी सरकार के सुशासन और सुधारों को एक और पुष्टि मिली है| मूडीज ने 2004 के बाद पहली बार भारत की सार्वभौम रेटिंग को बढ़ाया है’| उन्होंनने अगले ट्वीट में कहा, ‘मूडीज का मानना है कि मोदी सरकार के सुधारों में कारोबारी माहौल में सुधार होगा, उत्पादकता में वृद्धि होगी, अधिक निवेश आकर्षित होगा और भारत को उच्च विकास पथ पर लाया जाएगा’| सरकार को भले ही इस रेटिंग के आधार पर अपनी पीठ थपथपाने का मौका मिल गया हो लेकिन सच तो आम आदमी भुगत ही रहा है|