किस बीमारी के शिकार हैं ज्यादातर भारतीय ?

0
90
Print Friendly, PDF & Email

भारत में कामचोरी, आलस्य और अधिक देर तक बैठने की इच्छा के चलते जो मर्ज सबसे आम है वो है कब्ज। जी हां, कब्ज का रोग इस देश में सबसे ज्यादा लोगों को शिकार बना रहा है।

अब तो इस बाबत एक सर्वे भी आ गया है जो यह बताता है कि भारत के करीब 22 प्रतिशत लोग कब की समस्या से पीड़ित हैं।

यह रिसर्च साफ साफ इशारा कर रहा है कि भारत में करीब इतने ही लोग कहीं ना कहीं खराब स्वास्थ्य को रिफ्लेक्ट करते हैं। दवा कंपनी ऐबट के गट स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार कब्ज़ की समस्या से सबसे ज्यादा परेशान लोग कोलकाता में हैं जहां 28% वयस्कों को कब्ज़ की शिकायत है।

इस सर्वेक्षण के अनुसार भारत के 13 प्रतिशत लोगों की कब्ज की समस्या बेहद जटिल है जबकि भारतीय आबादी के 6 प्रतिशत लोग कब्ज़ से जुड़ी अन्य बीमारियों से भी ग्रसित हैं।

कब्ज़ की समस्या केवल वयस्कों को नहीं होती, बल्कि यह युवा और प्रौढ़ आबादी को भी अपनी जद में ले लेती है।

सर्वेक्षण में शामिल लोगों के जवाबों के अनुसार देश में कब्ज़ से सबसे ज्यादा परेशान शहर कोलकाता है तो वहीं दूसरे नंबर पर चेन्नई है जहां 24% लोगों को यह समस्या है और 23% के साथ दिल्ली इस मामले में तीसरे स्थान पर है। जबकि पटना, अहमदाबाद, मुंबई, लखनऊ और हैदराबाद इससे परेशान सबसे निचले शहरों में आते हैं।

सर्वेक्षण के मुताबिक सर्दी-खांसी के बाद कब्ज़ भारतीय लोगों के बीच स्वयं स्वीकार की गई सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या है। कब्ज़ की प्रमुख वजह खान-पान और जीवनशैली की खराब आदतें हैं और यह समस्या भारत की शहरी आबादी में लगातार बढ़ रही है।

जाहिर है यह सर्वे नजे तो गर्व की बात है और न ही खामोश रहकर चुप रहने की बात। अब समय आ गया है कि हम स्वस्थ भविष्य की ओर कदम बढ़ाएं।





loading...