बाल कलर करने हैं तो इसे जरूर पढ़ें

0
309
Print Friendly, PDF & Email

बरगंडी, ब्राउन, सुनहरी स्ट्रीक्स या फिर एकदम काली खालिस इंडियन अंदाज की जुल्फें। बालों के ये रंग आपको भी आकर्षित करते होंगे। तो बिना हिचके आप जरूर कराइए अपने बालों में कलर, लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखें, ताकि आपकी मेहनत का बेस्ट रिजल्ट मिले

  • बालों को कलर करवाने से पहले आपको एलर्जी का ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि कई बार कुछ कलर या डाई बालों या त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे में यदि आपको अमोनियायुक्त डाई सूट न करे तो आप प्रोटीनयुक्त डाई का इस्तेमाल भी कर सकती हैं।
  • हेयर कलर कई तरह के होते हैं जैसे बरगंडी, डार्क ब्राउन, रेड कलर, नेचुरल, गोल्ड, चॉकलेट, चेरी ब्राउन, रेड इत्यादि। आप अपनी पर्सनैलिटी के हिसाब से ही अपने लिए हेयर कलर का चयन करें।
  • बालों को घर पर कलर कर रही हैं तो ब्रश और हाथों में दस्तानों का प्रयोग जरूर करें और आंखों की सुरक्षा का खासतौर पर ध्यान रखें।
  • डाई के किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट से बचने के लिए आपको पहली बार हेयर कलर किसी अनुभवी व्यक्ति या प्रोफेशनल व्यक्ति से ही करवाना चाहिए।
  • बालों को कलर करने से पहले उन्हें धोकर, सुलझा कर अच्छी तरह से सुखा लें और बालों को कंघी के एक सिरे से उठाते हुए कलर करें।
  • बालों को यदि आप खुद से डाई करती हैं तो उसके बाद बालों में कंडीशनर करना न भूलें। साथ ही हेयर स्पा और सीरम ट्रीटमेंट तो किसी अनुभवी व्यक्ति से ही करवाएं। इन ट्रीटमेंट के कारण हेयर कलर लंबे समय तक आपके बालों पर टिके गा।
  • यदि आप पहली बार घर पर ही बालों को कलर कर रही हैं तो बालों को डाई करने वाले पैकेट पर लिखे दिशा-निर्देशों को सावधानी से पढ़ें और उनका पालन भी करें।
  • यदि आप बालों की र्पंिमग या घुंघराले बालों को स्ट्रेट कराना चाहती हैं तो कलर करवाने के 15-20 दिनों के बाद ही ऐसा करवाएं। एक साथ दोनों काम करने पर बालों पर केमिकल का प्रेशर अधिक पड़ता है और आपके बाल कमजोर हो सकते हैं।
  • यदि आपको किसी तरह की एलर्जी, डैंड्रफ या अन्य तकलीफ है, तो बालों को कलर करवाने से बचें।
  • सोच-समझकर डाई करवाएं, क्योंकि एक बार रंग चढ़ने के बाद उसे उतारने में बालों को नुकसान होता है। इससे बाल टूटते और झड़ते भी हैं। सिर्फ फैशन के चक्कर में अपने बालों को न रंगें।
  • डाई किए गए बालों के लिए अलग तरह के शैंपू बाजार में उपलब्ध हैं। इसी शैंपू का इस्तेमाल हेयर कलर के बाद करें।
  • तेज धूप पड़ने से बालों को बचाएं क्योंकि इससे बाल रुखे और बालों का रंग हल्का हो सकता है।
  • बालों को माह में एक बार डीप कंडीशनिंग करें और प्रत्येक शैंपू के बाद कंडीशनर का उपयोग करें।
  • यदि आपके बाल दोमुंहे हैं तो कलरिंग से पहले बालों की ट्रिमिंग जरूरी है।
  • बालों को कलर करवाने के लिए जरूरी है कि आप 4-5 महीने पहले बालों में मेहंदी न लगाएं।
  • कलरिंग के बाद डैंड्रफ शैंपू के प्रयोग से परहेज करें। दरअसल डैंड्रफ शैंपू में मौजूद केमिकल्स बालों से कलर उड़ा सकते हैं।
  • हफ्ते में एक बार बालों में तेल लगाएं।
  • बाल सुखाने के लिए ड्रायर का प्रयोग नहीं करें। साथ ही अन्य स्टाइलिंग प्रोडक्ट के इस्तेमाल से भी बचें।
  • हेयर प्रोडक्ट खरीदने से पहले उसकी एक्सपायरी डेट जरूर चेक कर लें, नहीं तो बालों पर साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं।





SHARE
Previous articleये हैं डिहाइड्रेशन से निपटने के 8 तरीके
Next articleपरफेक्ट मेकअप का फॉर्मूला
हिंद वॉच मीडिया समूह जमीनी सरोकारों से जुड़ी जनपक्षधरता की पत्रकारिता कर रहा है। साप्ताहिक अखबार, न्यूज़ पोर्टल, वेब चैनल और सोशल मीडिया नेटवर्क के माध्यम से जमीनी और वास्तविक ख़बरों को निष्पक्षता और निडरता के साथ अपने पाठकों तक पहुंचाने के लिए हिंद वॉच मीडिया पूरी समर्पण से काम करता है। भारत और विदेशों में यह वेब पोर्टल पढ़ा जा रहा है।
Hi this is test content
loading...