Print Friendly, PDF & Email

भागलपुर, बिहार
मुजफ्फरपुर बालिका आश्रयगृह में यौन उत्पीडऩ के मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को बुधवार आधी रात को भागलपुर जेल से पंजाब के पटियाला जेल भेज दिया गया। पटियाला भेजे जाने के पूर्व जेल के चिकित्सकों ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया।

भागलपुर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद भागलपुर जेल में बंद ठाकुर को बुधवार की रात करीब 12 बजे आम्रपाली एक्सप्रेस (कटिहार-अमृतसर) से पटियाला भेज दिया गया है। यात्रा के दौरान उनकी सुरक्षा में एक थाना प्रभारी सहित 12 पुलिसकर्मी को भी साथ मुजफ्फरपुर भेजा गया है।

इससे पहले ठाकुर को भागलपुर जेल से नवगछिया रेलवे स्टेशन लाया गया था। इधर, नवगछिया रेलवे स्टेशन पर ठाकुर ने पत्रकारों से खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि आवासगृह में रह रही सभी लड़कियां उनकी बेटियों के समान थी। इस मामले में उन्हें फंसाया गया है।

उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को मुजफ्फरपुर आश्रयगृह यौन उत्पीडऩ मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को भागलपुर जेल से पटियाला जेल स्थानांतरित करने का निर्देश दिया था। न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने ठाकुर को पंजाब के उच्च सुरक्षा वाले जेल में भेजे जाने का आदेश दिया था।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर स्थित बालिका आश्रयगृह में रहने वाली लड़कियों के साथ यौन उत्पीडऩ के मामला प्रकाश में आने के बाद ठाकुर को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद इन्हें मुजफ्फरपुर से भागलपुर जेल स्थानांतरित किया गया था। इस पूरे मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कर रही है।