आपने देखा क्या 100 रुपये का नया नोट?

गुजरात के पाटन जिले में स्थित 'रानी की वाव' का चित्र 100 रूपये के नये नोट पर होगा

(भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से जल्दी ही जारी किये जाने वाले 100 रुपये के नये नोट का नमूना}
Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली (नेशनल डेस्क)।
नोटबंदी के बाद जब दो हजार और पांच सौ के नए नोट प्रचलन में आए, तब लोगों को बड़े नोटों का साइज छोटा और सौ रुपये के नोट का साइज बड़ा होने से बटुए या जेब में नोटों को रखने में बड़ी दिक्कत होती थी। आमतौर पर बड़े नोटों को पीछे रखने की आदत होती है। अब सौ के नोटों का साइज बड़ा होने से होने वाली दिक्कतें खत्म होने वाली है। भारतीय रिजर्व बैंक जल्दी ही 100 रुपये का नया नोट जारी करेगा, जिसका साइज पुराने नोट से छोटा होगा। महात्मा गांधी सीरीज के इन नए नोटों पर मौजूदा गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर होंगे। केंद्रीय बैंक की ओर से जारी बयान के मुताबिक इस नए नोट के पिछले हिस्से पर गुजरात के पाटन जिले में स्थित ‘रानी की वाव’ का चित्र होगा। ‘रानी की वाव’ एक स्टेपवेल या बावड़ी है, नोट पर इसके चित्र को उकेरकर भारत की विरासत को दिखाया जाएगा।

क्या है 100 रूपये के नये नोट की खासियत
अंकों में 100 नीचे की तरफ लिखा होगा।
⇒ देवनागरी लिपि में १०० बीच में गांधी जी के चित्र के बाईं ओर अंकित होगा।
⇒ मध्य में गांधी जी की तस्वीर होगी।
⇒ माइक्रो लेटर्स में ‘RBI’, ‘भारत’, ‘India’ और ‘100’ लिखा होगा।
⇒ महात्मा गांधी की तस्वीर के दाईं ओर प्रॉमिस क्लॉज होगा और उसके नीचे गवर्नर के साइन होंगे।
⇒ दाईं तरफ ही अशोक स्तंभ होगा।
⇒ नये नोट के पीछे स्वच्छ भारत अभियान का प्रतीक चिन्ह भी छपा होगा।

कितना सुरक्षित होगा 100 रूपये का नया नोट
प्रिंटिंग में लगने वाली स्याही भारतीय है और सिक्योरिटी फीचर भी पूरी तरह भारत में ही तैयार किए गए हैं। नोट की एक और खासियत इसमें छपने वाला स्मारक भी है। नोट के पिछले हिस्से में यूनेस्को की विश्वदाय सूची में शामिल गुजरात के पाटण स्थित रानी की बावड़ी नोट दिखाई देगी। आमतौर पर लोगों के बीच कम चर्चित इस ऐतिहासिक इमारत को यूनेस्को ने बावडिय़ों की रानी की उपाधि दी है।

नए नोट की सिक्योरिटी फीचर में सबसे प्रमुख गांधी जी का चित्र होगा। इस सिक्योरिटी फीचर को गुप्त रखा जाएगा लेकिन यह नोट के रंग से कंट्रास्ट में होगा। नोट का रंग हल्का जामुनी होगा। आरबीआइ सूत्रों के अनुसार यही सबसे बड़ा सिक्योरिटी फीचर है। इसके अलावा करीब दो दर्जन सूक्ष्म सिक्योरिटी फीचर बढ़ाए गए हैं, जो पुराने नोट में नहीं है।

छोटा होगा नया नोट
इस नोट का कलर हल्का बैंगनी होगा। इस बैंक का साइज 66 mm × 142 mm होगा। अन्य नए नोटों की तरह सौ रुपये का नोट भी पुराने नोट से छोटा होगा। एक गड्डी का वजन तकरीबन 83 ग्राम होगा। नोट की लंबाई और चौड़ाई में करीब 10 फीसद की कमी की गई है।

जल्द बदलेगी एटीएम की कैश ट्रे
सौ रुपये के नोट के आकार प्रकार में बदलाव के चलते एटीएम के कैश ट्रे भी बदले जाएंगे। हालांकि अभी इस संबंध में कोई आदेश नहीं जारी हुआ है लेकिन, आरबीआइ के एक सूत्र का कहना है कि अगस्त माह तक इस संबंध में सभी बैंकों को आदेश जारी कर दिए जाएंगे। हालांकि कुछ बैंकों ने आटोमेटिक कैश ट्रे वाले एटीएम का आर्डर दे रखा है लेकिन, इनकी संख्या अभी कम है।

केंद्रीय बैंक ने कहा कि इस नए नोट के साथ ही पहले से प्रचलित 100 रुपये के नोट की सभी सीरीज पहले की तरह ही मान्य होंगी। केंद्रीय बैंक ने कहा कि इन नए नोटों के जारी होने के बाद इसकी सप्लाई तेजी से बढ़ाई जाएगी।

इस ऐतिहासिक धरोहर की तस्वीर होगी 100 रूपये के नये नोट पर
गुजरात राज्य के पाटन जिले में स्थित ‘रानी की वाव’ का चित्र 100 रूपये के नये नोट पर होगा। ‘रानी की वाव’ एक स्टेपवेल या बावड़ी है, नोट पर इसके चित्र को उकेरकर भारत की विरासत को दिखाया जाएगा। इस मंदिर की नक्काशी और यहां लगी मूर्तियों की खूबसूरती न केवल मन मोह लेती है बल्कि अपने वैभवशाली इतिहास पर गर्व भी कराती है। साल 2001 में इस बावड़ी से 11वीं और 12वीं शताब्दी में बनी दो मूर्तियां चोरी हो गयी थी।

(रानी की वाव’ एक स्टेपवेल (बावड़ी) है, 100 रुपये के नए नोट पर इसके चित्र को उकेरकर भारत की विरासत को दिखाया जाएगा)

भारत की इस विरासत को यूनेस्को ने साल 2014 में विश्व विरासत की सूची में शामिल किया है। यूनेस्को ने इस बावड़ी को भारत में स्थित सभी बावड़ियों की रानी के खिताब से नवाजा है।





loading...