Print Friendly, PDF & Email

सुपौल, बिहार
जिले के त्रिवेणीगंज के कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में घुसकर 35 से ज्यादा लड़कियों के साथ मारपीट करने के आरोप में अब तक एक महिला सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एएसपी त्रिवेनिगंज ने बताया कि एक महिला समेत नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनमें से एक नाबालिग है दूसरों से मैट्रिक प्रमाण पत्र मंगवाए गए हैं। बाकी की पहचान जारी है।

हमारा इच्छा है कि निर्दोष को पकडा नहीं जाए। चोटिल लड़कियां जिले के त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के सुपौल में दरपखा गांव के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की छात्राएं हैं। सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि सभी घायल छात्राओं की स्थिति अब बेहतर है। कई छात्राओं को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और जो भी शेष यहां इलाजरत हैं, उन्हें सोमवार को छुट्टी दे दी जाएगी।

बताया जा रहा है कि शनिवार को मनचलों ने स्कूल में घुसकर यहां रहने वाली लड़कियों के साथ मारपीट की थी, जिसमें 35 से ज्यादा लड़कियां घायल हो गई थी। पीडि़त छात्राओं का कहना है कि छात्राएं जब परिसर में खेल रही थी उसी दौरान बाहर से मनचले अभद्र टिप्पणियां करने लगे। लड़कियों ने जब इसकी शिकायत शिक्षकों से की उसके बाद यह मनचले वहां से चले गए लेकिन उसके बाद अपने कई साथियों और गांव के लोगों के साथ लौटे और स्कूल में घुसकर मारपीट की। सभी घायल छात्राओं का इलाज सुपौल के सदर अस्पताल में चल रहा है।

सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि सभी घायल छात्राओं की स्थिति अब बेहतर है। कई छात्राओं को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और जो भी शेष यहां इलाजरत हैं, उन्हें सोमवार को छुट्टी दे दी जाएगी। सुपौल के जिलाधिकारी ने बताया कि दोनों स्कूल एक ही परिसर में हैं जिनकी इमारतें अलग हैं लेकिन खेल का मैदान एक ही है। लडक़ों ने कथित तौर पर लड़कियों के स्कूल की दीवार पर कुछ अभद्र टिप्पणी लिख दी थीं। लड़कियों ने इसका विरोध करते हुए लडक़ों को पीट-पीटकर भगा दिया।

बाद में सभी नाबालिग लडक़ों ने अपने माता-पिता को यह जानकारी दी। इसके बाद उनकी माताओं ने अन्य ग्रामीणों के साथ मिलकर स्कूल परिसर में घुसकर लड़कियों के साथ मारपीट की। यादव ने बताया कि घटना के समय खेल के मैदान में 74 बालिकाएं थीं और उनमें से 30 जख्मी हो गई। सभी चोटिल छात्राओं को त्रिवेणीगंज रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 20 बालिकाओं को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है। बाकी 10 का उपचार चल रहा है।