Print Friendly, PDF & Email

वाराणसी, उत्तर प्रदेश
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में बीएचयू के एम्फीथियेटर में मंगलवार को काशी में चल रही योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था को बदलने की हमने ठानी है। हम देश को प्रगति के सौंपान पर ले जाएंगे। विकास सिर्फ अब वाराणसी में ही नहीं बल्कि आस-पास के क्षेत्रों में भी हो लगातार हो रहा है। अपने दो दिन के दौरे में उन्होंने वह विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण किया। जिसमें अटल इन्क्यूबेशन सेंटर, नागपुर ग्राम पेयजल योजना के अलावा पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की विभिन्न परियोजनाएं शामिल हैं।

साथ ही बीएचयू में बनने वाले वेद विज्ञान केंद्र व रीजनल इंस्टीट्यूट आफ ऑप्थेल्मोलाजी का शिलान्यास किया। आपको बता दें कि पीएम मोदी 17 सितंबर यानी अपने जन्मदिन पर वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे और काशी विद्यापीठ ब्लाक के नरउर पहुंचकर और प्राथमिक पाठशाला के बच्चों के बीच केक काटकर अपना 68वां जन्मदिन मनाया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में कमल के फूल चढ़ाये और दुग्धाभिषेक किया और विशेष पूजा-अर्चना की।

पीएम मोदी ने अपने दौरे के दौरान योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के जरिए संसदीय क्षेत्र काशी की जनता को 557.40 करोड़ रुपये की सौगात दी है। इनमें 486.21 करोड़ के 10 लोकार्पण और 71.18 करोड़ रुपये के तीन शिलान्यास शामिल हैं। मोदी ने कहा कि वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सडक़, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं। सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया है।

मोदी ने कहा कि हम पूरे समर्पण के साथ बनारस में हो रहे परिवर्तन के इस संकल्प को और मजबूत करें। नई काशी, नए भारत के निर्माण में आगे बढ़कर अपना योगदान दें। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले चार साल में काशी के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कई योजनाएं चलाई जा रही है। प्रधानमंत्री की अगुवाई में उत्तर प्रदेश में बिना किसी भेदभाव के साथ विकास परियोजनाओं को आगे बढा रहा है। हमारा लक्ष्य हर घर में बिजली पहुंचाना है।