फ़ाइल फोटो
Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी और तीन मूर्ति कॉम्पलेक्स के संबंध में पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है और सख्त लहजे में मेमोरियल में किए जा रहे बदलाव पर अपनी आपत्ति जाहिर की है।

मनमोहन सिंह ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि एक एजेंडा के तहत तीन मूर्ति भवन स्थित नेहरु मेमोरियल में बदलाव की कोशिश की जा रही है। मनमोहन सिंह ने लिखा है कि नेहरू का संबंध सिर्फ कांग्रेस से नहीं था बल्कि वो पूरे देश के नेता थे।

पिछले हफ्ते लिखी चिट्ठी में मनमोहन सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी का जिक्र करते हुए लिखा है कि वाजपेयी के 6 साल के शासनकाल में कभी भी नेहरू मेमोरियल से छेड़छाड़ की कोशिश नहीं हुई। लेकिन ये दुख की बात है कि वर्तमान की सरकार ऐसे एजेंडे पर काम कर रही है।

मनमोहन सिंह ने लिखा है कि देश सेवा में नेहरू के समर्पण और त्याग को किसी भी नए तरीके से पारिभाषित करने की जरूरत नहीं है। सिंह ने नेहरू के निधन के वक्त वाजपेयी के भाषण का जिक्र करते हुए लिखा है कि वाजपेयी ने संसद में दिए अपने भाषण में कहा था कि ‘तीन मूर्ति भवन को अब ऐसा ‘घरवाला’ नहीं मिलने वाला। भविष्य में ऐसी महान शख्सियत, चमकदार व्यक्तित्व, विपक्ष को भी साथ लेकर चलने वाला नेता नहीं मिलने वाला।’

वाजपेयी ने कहा था कि अलग-अलग विचारधारा होने के बावजूद भी हमने एकदूसरे का सम्मान किया। उनका देश के लिए प्यार, विविधता का सम्मान और एकता अखंडता में विश्वास महान था। मनमोहन सिंह ने लिखा है कि हम इन भावनाओं का सम्मान करते हुए तीन मूर्ति भवन को उसके अपने स्वरूप में रहने दें। इस तरह से हम इतिहास और महान नेताओं कि विरासत का सम्मान करेंगे।