Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली
बीजेपी और कांग्रेस के बीच राफेल डील को लेकर घमासान जारी है। कांग्रेस के आरोपों को नकारते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आंकड़े गिनाते हुए राहुल पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। जेटली ने कहा है कि कांग्रेस ने राफेल कीमतों को लेकर जो आरोप लगाए हैं, वे तथ्यात्मक रूप से पूरी तरह गलत हैं। आपको बता दें कि सर्जरी के बाद पहली बार सार्वजनिक रूप से इंटरव्यू देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोला है।

2007 के राफेल ऑफर को लेकर राहुल गांधी खुद अपनी अलग-अलग स्पीच में 7 तरह के दाम बता चुके हैं। जेटली ने कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी जिस तरह की बात कर रहे हैं, वह प्राइमरी स्कूल के स्तर की डिबेट है। फाइनैंस मिनिस्टर ने कहा कि 2007 के मुकाबले 2015 में हुई राफेल डील रेट्स के मुकाबले कहीं बेहतर है।

वित्त मंत्री ने कहा कि राहुल कह रहे हैं कि हम 500 से कुछ ज्यादा दे रहे थे और आप 1600 रुपये से कुछ अधिक दे रहे हैं। इस तरह के तर्कों से पता चलता है कि उनकी समझ कितनी कम है। जेटली ने कहा कि मेरी खुद राहुल से ही सवाल है कि उन्होंने इस डील को करने में अनिश्चितकाल तक की देरी क्यों की। आखिर यूपीए ने इस डील को कोल्ड स्टोरेज में क्यों डाला? उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता एके एंटनी राफेल डील पर जवाब दें। आखिर क्यों यूपीए सरकार ने दस सालों तक इस डील को लटकाकर रखा।