Print Friendly, PDF & Email

555समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद रामगोपाल यादव ने 9 मार्च  को न्यूज चैनलों द्वारा कराए गए एग्जिट पोल पर निशाना साधा है। रामगोपाल यादव ने कहा “मुझे पुख्ता जानकारी है कि असली एग्जिट पोल को चैनलों ने कुछ दिन पहले दबाव में बदला दिया।” बता दें, 9 मार्च को यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा विधानसभा चुनाव होने के बाद एग्जिट पोल प्रसारित किए गए। ज्यादातर एग्जिट पोल में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को दूसरे नंबर पर रखा गया है। वहीं भारतीय जनता पार्टी को एक नंबर पर बताया गया है। तीसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी नजर आ रही हैं। हालांकि, स्पष्ट बहुमत किसी भी पार्टी को नहीं दिया गया है।

क्या कहते हैं एग्जिट पोल के आंकड़े-

चाणक्य-न्यूज 24- सपा-कांग्रेस (88-+/-15), भाजपा (285- +/-18), बसपा (27) (+/-12) अन्य (3+/-2)

एक्सिस-इंडिया टुडे- सपा-कांग्रेस (88-112), भाजपा (251-279), बसपा (28-42), अन्य (4-11)

सीवोटर-इंडिया टीवी- सपा-कांग्रेस (135-147), भाजपा (155-167), बसपा (81-93), अन्य (8-20)

एमआरसी-इंडिया न्यूज- सपा-कांग्रेस (120) भाजपा (185), बसपा (90) अन्य (8)

वीएमआर-टाइम्स नाउ- सपा-कांग्रेस (110-130) भाजपा (190-210), बसपा (57-74) अन्य (8)

सीएसडीएस-एबीपी न्यूज- सपा-कांग्रेस (156-169) भाजपा (164-176) बसपा (60-72) अन्‍य (2-6)

देश के सबसे बड़े सूबे में उत्तर प्रदेश में पाँच एग्जिट पोल एजेंसियों ने अनुमान जताया है कि भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरेगी।सत्ताधारी सपा को चुनाव से पहले कांग्रेस से गठबंधन करने का कोई फायदा शायद नहीं हुआ। वहीं बसपा को ज्यादातर एग्जिट पोल में पिछली विधान चुनाव की 80 के आसपास या उससे भी कम सीटें मिलने का अनुमान जता रहे हैं।