Print Friendly, PDF & Email

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘संविधान बचाओ अभियान’ की शुरुआत करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार को देशभर में दलितों-अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों और रेप की घटनाओं के लिए जिम्मेदार ठहराया।

भाषण की पांच बड़ी बातें

1. दलितों, महिलाओं और कमजोर वर्ग के लिए मोदी के दिल में जगह नहीं :
राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी टॉयलेट साफ करने को आध्यात्मिकता मानते हैं। उन्हें लगता है कि टॉयलेट साफ करने वाला ऐसा पेट भरने के लिए नहीं, बल्कि आध्यात्मिकता के लिए कर रहा है। वास्तव में प्रधानमंत्री के दिल में दलितों, महिलाओं और कमजोर वर्ग के लोगों के लिए कोई जगह नहीं है। देशभर में दलितों व बहुसंख्यकों पर अत्याचार हो रहा है, लेकिन मोदी चुप्पी साधे हुए हैं। इस समय सरकार नहीं, बल्कि हमारा संविधान सभी की रक्षा कर रहा है।

2. राफेल डील में चोरी हुई, यह पूरा देश जानता है :
राहुल गांधी ने कहा कि जनता जज से न्याय मांगने जाती है, लेकिन देश में ऐसा पहली बार हो रहा है जब जज खुद न्याय मांग रहे हैं। पिछले दिनों पहली बार चार जज जनता से न्याय मांगते नजर आए। सुप्रीम कोर्ट को कुचला जा रहा है। संसद ठप है। नीरव मोदी, ललित मोदी, विजय माल्या और राफेल जैसे मुद्दों पर बात करने से नरेंद्र मोदी घबराते हैं। राफेल डील में चोरी हुई है, यह पूरा देश जानता है। नीरव मोदी भाग जाता है और उनके मित्र कुछ नहीं बोलते हैं। राहुल गांधी ने कहा है कि मुझे सिर्फ 15 मिनट संसद में बोलने दिया जाए, मोदी जी खड़े नहीं रह पाएंगे।

3. बच्चियों से बलात्कार पर चुप्पी क्यों?
राहुल गांधी ने कहा कि पिछले दिनों कठुआ-उन्नाव में बच्चियों से रेप हुआ। आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं, लेकिन नरेंद्र मोदी अपने ही एमएलए के खिलाफ कुछ नहीं बोलते हैं। इस मुद्दे पर आईएमएफ की चीफ ने भी उनसे शिकायत की। ऐसा पहली बार हुआ है। आज तक 70 वर्षों में किसी प्रधानमंत्री को यह नहीं सुनना पड़ा। पिछले चार वर्षों में पूरी दुनिया में देश की साख को गहरा धक्का लगा है। इसके बावजूद देश के प्रधानमंत्री शांत है, क्योंकि मोदी जी को सिर्फ ‘मोदी’ में रुचि है। उनकी सिर्फ और सिर्फ प्रधानमंत्री बनने में दिलचस्पी है। उन्होंने अपने एमपी-एमएलए से कहा कि तुम प्रेस को मसाला देते हो। चुप रहो और बोलना बंद करो। देश सिर्फ मेरी बात सुनेगा। संसद, सुप्रीम कोर्ट, विधानसभा में कोई नहीं बोलेगा, सिर्फ नरेंद्र मोदी बोलेगा।

4. बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की जगह 2019 में सिर्फ ‘बेटी बचाओ’ होगा नारा :
राहुल गांधी ने कहा कि पिछली बार नरेंद्र मोदी और भाजपा ने 15 लाख रुपये, दो करोड़ युवाओं को रोजगार, किसानों को उनकी फसल का सही दाम आदि देने का नारा दिया था। पहले उनका नारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ था, लेकिन 2019 में सिर्फ ‘बेटी बचाओ’ नारा होगा। वह भी भाजपा से, क्योंकि यह सरकार बेटियों को नहीं बचाएगी। माता-पिता को खुद अपनी बेटियों को बचाना होगा। यह हिंदुस्तान की सच्चाई है।

5. भाजपा-आरएसएस को संविधान नहीं छूने देंगे :
राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने पिछले 70 वर्षों में देश को संविधान दिया और उसकी रक्षा की और हम यह पूरा करके दिखाएंगे। भाजपा-आरएसएस इस संविधान को छू नहीं पाएंगे। 2019 में जनता मोदी को अपने मन की बात बताएगी। कांग्रेस को देश को एक नया रास्ता दिखाना पड़ेगा। जहां भी बीजेपी के लोग जनता पर हमला करेंगे वहां कांग्रेस जनता के साथ खड़ी नजर आएगी।