Print Friendly, PDF & Email

उनका व्यवहार चौकाने वाला था। यह सब देखकर मैं हैरान रह गई। नरेंद्र मोदी बतौर प्रधानमंत्री सदन में उपस्थित हैं इसलिए प्रधानमंत्री के पद का सम्मान किया जाना चाहिए। राहुल प्रधानमंत्री से गले मिले और इसके बाद उन्होंने आंख भी मारी। यह गलत हरकत है।

सुमित्रा महाजन, लोकसभा  स्पीकर

 

 

नई दिल्ली (नेशनल डेस्क)।
भारतीय संसद में आज कुछ ऐसा घटित हुआ कि सभी सदस्यों के साथ-साथ लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन भी अचंभित रह गयीं। मौका था केंद्र सरकार के खिलाफ संसद में विपक्ष की ओर से लाये गए अविश्ववास प्रस्ताव पर चर्चा का। इस घटना की वजह से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में खासी सुर्खियाँ बटोर ली है|

अविश्ववास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान क्या हुआ सदन में ?
जब राहुल गांधी प्रधानमंत्री पर सीधा-सीधा वार कर रहे थे तब सदन में मौजूद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कानों में हेडफोन लगाए अपनी जगह पर बैठ कर खिलखिलाकर हंस रहे थे। अपना भाषण खत्म कर राहुल गांधी प्रधानमंत्री मोदी के पास गए और उनको गले लगा लिया। प्रधानमंत्री को शायद इस बात का अंदेशा नहीं था कि राहुल गांधी अचानक अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उनको गले लगा लेंगें। कुछ क्षण के लिए प्रधानमंत्री असमंजस की स्थिति में आ गए, फिर उन्होंने गले मिलकर लौट रहे राहुल गांधी को अपने पास बुलाया और उनका पीठ थपथपाया। चेहरे के भाव से ऐसा लग रहा था कि राहुल गांधी के इस मास्टर स्ट्रोक से प्रधानमंत्री कुछ देर के लिए सकते में आ गये।

(संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान की दो यादगार तस्वीरें – बायीं तस्वीर में राहुल गांधी ने अपना भाषण खत्म करने के बाद अपनी सीट पर बैठ कर किसी को मुस्कुराते हुए आंख से कुछ इशारा कर रहे हैं और दाहिनी तस्वीर में वे अपने भाषण के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनकी सीट पर जाकर गले मिल रहे हैं)

राहुल गांधी पर क्यूँ खफा हुयीं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन?
लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने राहुल गांधी के पीएम मोदी को गले लगाने और सदन में आंख मारने पर नाराजगी जताई। साथ ही उन्हें अपने बेटे जैसा भी बताया। संसद में विपक्ष की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी लगातार सुर्खियों में छाए रहे। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाने और इसके बाद आंख मारने को लेकर चर्चा में रहे। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के व्यवहार को अनुचित बताया और उन्हें इसके लिए फटकार भी लगाई। सुमित्रा महाजन ने राहुल को अपने बेटे जैसा बताया।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने राहुल गांधी के व्यवहार को सदन की गरिमा के खिलाफ बताया। उन्होंने कहा कि ‘जो कुछ भी हुआ, वो चेयर को अच्छा नहीं लगा। ये समझ लो सदन की गरिमा हमें ही रखनी है। कोई बाहर से आकर इसका ध्यान नहीं रखेगा। हमें सदन के सदस्य होने के नाते अपनी गरिमा भी रखनी है। मैं चाहतीं हूं सब लोग प्रेम से रहें।’

राहुल गांधी के भाषण के बाद सुमित्रा महाजन ने कहा कि उनका व्यवहार चौकाने वाला था। लोकसभा स्पीकर ने कहा, ‘यह सब देखकर मैं हैरान रह गई। नरेंद्र मोदी बतौर प्रधानमंत्री सदन में उपस्थित हैं इसलिए प्रधानमंत्री के पद का सम्मान किया जाना चाहिए। राहुल प्रधानमंत्री से गले मिले और इसके बाद उन्होंने आंख भी मारी। यह गलत हरकत है।’ आगे लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने यह भी कहा कि ‘राहुल जी मेरे दुश्मन नहीं हैं। मेरे बेटे जैसे ही लगते हैं लेकिन सदन में जो कुछ भी बोलना है सभापति को संबोधित करके ही बोलना चाहिए।’