Print Friendly, PDF & Email

भागदौड़ भरी लाइफ में थकान के कारण अकसर आप अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते हैं। इस कारण से तनाव, सिर में दर्द, गुस्सा आने जैसी समस्याएं आपको घेरने लगती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए पार्याप्त नींद लेना चाहिए। यदि आपको नींद अच्छी आती है, तो उक्त परेशानियों से परेशान नहीं होंगे। हालांकि, यह भी जान लेना जरूरी है कि किस उम्र में कितना सोना जरूरी है। चूंकि यदि आप अधिक नींद लेते हैं, तो यह भी आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है।

नवजात बच्चे की नींद: नवजात को 14 से 17 घंटे सोना जरूरी है। लेकिन 19 घंटे से अधिक सोना हानिकारक है। इससे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।
3-5 साल: इस उम्र के बच्चे को 10-13 घंटे तक सोना चाहिए। लेकिन इससे अधिक सोने पर सेहत पर असर पड़ सकता है। 8 घंटे से कम और 14 घंटे से ज्यादा सोने पर शरीर का विकास रुक सकता है।
6 से 13 साल: विशेषज्ञों की माने तो 6 से 13 साल उम्र के बच्चे को 9 से 11 घंटे सोना जरूरी है। 7 घंटे से कम व 11 घंटे से अधिक सोना सेहत के लिए हानिकारक है।

14 से 17 साल: इस अवस्था में बच्चे किशोर हो जाते हैं। किशोरा अवस्था में 8 से 10 घंटे सोना चाहिए। 7 से कम और 11 घंटे से अधिक नही सोएं।
18 से 26 साल: इस अवस्था में 9 घंटे की नींद लेनी चाहिए। इससे अधिक नींद स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।
27 से 64 साल: इस अवस्था में 7 से 9 घंटे तक सोना चाहिए। 6 घंटे से कम और 11 घंटे से अधिक नहीं सोएं।
वृद्धा अवस्था: 65 वर्ष से अधिक होने पर 7 से 8 घंटे सोना चाहिए। 5 घंटे से कम और 9 घंटे से ज्यादा सोना सेहत के लिए नुकसानदायक है।