Print Friendly, PDF & Email

देवघर, झारखंड
जीएसटी और वैट टैक्‍स की चोरी के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने इस मामले में अब तीन लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि एक की तलाश जारी है। ये लोग फर्जी कम्पनी के नाम पर टैक्‍स  चोरी करते थे। नगर थाना में मामला दर्ज था।

एसपी नरेंद्र सिंह ने प्रेस कांफ्रेस कर बताया कि देवघर पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। वैट और जीएसटी टैक्‍स चोरी का एक बड़ा खुलासा हुआ है। सरकार द्वारा दो मामला दर्ज किया गया था, जिसमें जीएसटी चोरी, वैट चोरी संबंधित 48 करोड़ रुपये की चोरी का खुलासा हुआ है।

देवघर पुलिस ने स्पेशल एसआईटी टीम गठित कर साइबर डीएसपी के नेतृत्व में जांच की। दो कंपनियां ओम ट्रेडर्स और साह इंटर प्राइजेज के दोनों प्रोपराइटर को गिरफ्तार किया गया है। जो कोलकाता के हुगली बसबेरिया हावड़ा में थे। इन दोनों के साथ एक ओर लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

दोनों कंपनियों द्वारा करोड़ों का फर्जी बिजनेस दिखाया गया था। कुछ पॉलिसी भी हाथ लगी है। 10 मोबाइल मिले है और इसके अंदर कुल 21 सैल कंपनियां है। जिसके अंदर इनपुट टैक्स क्रेडिट है उसको इनके द्वारा ऑन पेपर दिखाया गया है जो राजस्व सरकार को मिलना था, लेकिन इसमें कुछ नहीं मिला।

छानबीन के लिए रांची से एक टीम देवघर आई है, पूछताछ की जा रही है। जिसमें देवघर पुलिस द्वारा अनुसंधान जारी है। अभियुक्त संदीप खोवाला की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जो एक कमीशन एजेंट के रूप में काम कर रहा था।