(फाइल फोटो)
Print Friendly, PDF & Email

रांची : राजधानी रांची शहर के लोगों को शहर के विकास में योगदान देने के लिए लगभग दो वर्षों तक थोड़ी तकलीफ से गुजरना पद सकता है। नगर निगम और ट्रैफिक पुलिस द्वारा स्थानीय लोगों को इसके लिए तैयार करने के उद्देश्य से शहर का ट्रैफिक डायवर्ट किया जा रहा है।

यह सारी कवायद कांटा टोली में प्रस्तावित फ्लाईओवर के निर्माण के पहले ट्रायल के तौर पर की जा रही है। प्रस्तावित फ्लाईओवर के निर्माण के पहले नगर निगम और ट्रैफिक पुलिस की ओर से ट्रैफिक को डायवर्ट करने का ट्रायल किया जा रहा है।

शुक्रवार 27 अप्रैल को भी ट्रैफिक पुलिस ने बहू बाजार चौक से कांटा टोली की ओर जाने वाले ट्रैफिक को रोक दिया। कोकर रोड में जाने वाले ट्रैफिक को बहू बाजार से मिशन चौक होते हुए लालपुर की ओर भेजा गया। वहीं दूसरी तरफ, कोकर से बहू बाजार की ओर आने वाली ट्रैफिक को कोकर चौक से लालपुर होते हुए मिशन चौक की ओर डाइवर्ट किया गया।

ट्रैफिक पुलिस ने स्कूल बस और एंबुलेंस को भी डायवर्ट किया, ताकि अगले 2 सालों तक चलने वाले निर्माण कार्य के दौरान स्कूल बस और एंबुलेंस जाम में ना फंसे। इधर, पुरुलिया रोड से नामकुम और नामकुम से मेन रोड की ओर जाने वाले ट्रैफिक को पूर्व की तरह ही छोड़ दिया गया। क्योंकि फिलहाल उक्त स्थल पर किसी तरह का निर्माण कार्य नहीं किया जाना है।

रांची वालों को विकास में योगदान देने का समय आ गया है। अनुमान है कि लगभग दो वर्षों तक फ्लाईओवर के निर्माण के कारण शहर में यातायात डिस्टर्व रहेगा। ट्रैफिक डायवर्ट प्लान को सख्ती से लागू करने के लिए अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया है, जो विभिन्न चौक-चौराहों पर ट्रैफिक संभालने में सहयोग करते देखे जा रहे हैं।