क्या कहती है भाजपा की विधानसभा चुनाव के कैंडिडेंट्स की पहली लिस्ट?

0
83
Print Friendly, PDF & Email

गुजरात के विधानसभा चुनाव को लेकर पूरा देश उत्साहित है। पहली बार ऐसा हो रहा है कि भाजपा अपनी ही गढ़ में घबराई हुई है। प्रधानमंत्री अपने घरेलू मैदान में कई सालों से विजेता चुनावी पारी खेलते आये हैं लेकिन इस बार मामला जरा पेचीदा है। एक तरफ मुकाबला काँटों भरा करने के लिए जहाँ आम आदमी पार्टी ने गुजरात में कमर कस रखी है वहीँ  जातीय आन्दोलनों ने भी भाजपा की नींदें  हराम कर रखी हैं। पाटीदार, ओबीसी और दलित आंदोलन भी बीजेपी का जनधार घटाने में अहम् भूमिका अदा करेंगे। ऐसे में भाजपा ने बड़े ही ध्यान और सोच विचार से  विधानसभा चुनाव के कैंडिडेंट्स की पहली लिस्ट जारी की है। आइये देखते हैं कि यह लिस्ट क्या कहती  चुनावी समर में यह कितने कारगर साबित होगी?

 बीजेपी की पहली लिस्ट में सीएम विजय रुपाणी, डेप्युटी सीएम नितिन पटेल समेत 70 कैंडिडेट्स के नाम घोषित किए गए हैं। बीजेपी ने इस बार टिकट के बंटवारे में जातिगत समीकरणों का पूरा ध्यान रखा है। सबसे अहम पाटीदार बहुल्य इलाके हैं, जहां फिलहाल बीजेपी ने टिकट की घोषणा नहीं की है। ऐसी चर्चा है कि पार्टी को कांग्रेस की लिस्ट का इंतजार है। इसके बाद ही पाटीदारों के इलाकों के टिकट फाइनल किए जाएंगे।

70 लोगों की लिस्ट में बीजेपी ने अपने 49 विधायकों को फिर से मौका दिया है। सीएम विजय रुपाणी और डेप्युटी सीएम नितिन पटेल जैसी वीआईपी सीटें नहीं बदली गईं हैं। विजय रुपाणी राजकोट पश्चिम से और नितिन पटेल मेहसाणा से चुनाव लड़ेंगे। बीजेपी की इस लिस्ट में 15 पाटीदार कैंडिडेट्स को भी टिकट मिला है। इसके अलावा कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए 5 नेताओं को भी टिकट मिला है। ये वे विधायक हैं जिन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था।

गुजरात के विधानसभा चुनाव में इस बार जातिगत ध्रुवीकरण की चर्चा है। हार्दिक पटेल के नेतृत्व में चल रहे पाटीदार आंदोलन, जिग्नेश मेवाणी के नेतृत्व में दलितों के आंदोलन और अल्पेश ठाकोर के नेतृत्व में ओबीसी जातियों की गोलबंदी ने इस बार के चुनावों को जाति के ऐंगल पर भी रोचक बना दिया है। बीजेपी की पहली लिस्ट से साफ है कि पार्टी ने जातिगत गणित पर भी फोकस कर टिकट बांटे हैं।

पहली लिस्ट में 15 पाटीदार कैंडिडेट्स को मिले टिकट इसी ओर इशारा कर रहे हैं। इसके अलावा बीजेपी ने वढवाण विधानसभा सीट से अपनी दो बार की विधायक का टिकट काट पाटीदार नेता धनजीभाई पटेल को टिकट दिया है। बीजेपी ने पाटीदार बहुल्य इलाकों में अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी इन इलाकों में कांग्रेस के फैसले का इंतजार कर रही है। बीजेपी को उम्मीद है कि कांग्रेस के टिकट बंटवारे को लेकर अगर असंतोष पैदा हुआ तो इसका फायदा उठाया जा सकता है। बीजेपी की 70 कैंडिडेट्स की लिस्ट में 4 महिलाएं भी शामिल हैं।





loading...